• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

हार से बिहार कांग्रेस में 'हाहाकार', उठ रहा 'एकला चलो' का राग

पटना। बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से लोकसभा चुनाव में मुकाबला करने के लिए विपक्षी दलों ने महागठबंधन बनाया, लेकिन चुनाव परिणाम के बाद कांग्रेस को छोड़कर राजद सहित अन्य दलों के सूपड़ा साफ होने के बाद कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता महागठबंधन को छोड़कर अकेले चुनाव लड़ने की बात कर रहे हैं। इस चुनाव में वोट प्रतिशत के मामले में कांग्रेस, राजद और भाजपा सहित कई दलों से भले ही पीछे रह गई हो, परंतु इस चुनाव में कांग्रेस की सफलता का प्रतिशत (स्ट्राइक रेट) राजद से बेहतर है। इस चुनाव में 19 सीटों पर लड़ने वाली राजद एक भी सीट नहीं जीत सकी, लेकिन कांग्रेस ने नौ सीटों पर अपने उम्मीदवार को उतारकर किशनगंज सीट पर जीत का पताका फहरा दिया। यही एकमात्र सीट है, जो इस चुनाव में महागठबंधन जीत सकी है।

वरिष्ठ कांग्रेसी और बिहार विधानसभा में कांग्रेस के नेता सदानंद सिंह ने गठबंधन से अलग होकर कांग्रेस को चुनाव में उतरने की सलाह देते हुए स्पष्ट कहा कि पार्टी को बैसाखी से उबरना होगा। अपनी धरातल, अपनी जमीन को तो मजबूत करना ही होगा। महागठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर नाइंसाफी के विषय में सिंह कहते हैं, "महागठबंधन में कमियां तो थीं ही, कांग्रेस को भी कम सीटें मिली हैं। समझौता समय से पहले नहीं हो पाया।

कांग्रेस की बिहार इकाई के पूर्व अध्यक्ष अनिल शर्मा भी कहते हैं कि यह मेरी पुरानी मांग है। मैं तो 1998 से ही इसका प्रयास कर रहा हूं। मेरा मानना है कि कांग्रेस बिहार में अकेले बेहतर प्रदर्शन कर सकती है। बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व राज्यपाल निखिल कुमार भी कांग्रेस को अकेले चुनाव लड़ने का समर्थन करते हुए कहते हैं कि महागठबंधन में सीटों के बंटवारे, टिकट बांटने और प्रचार अभियान में कमी रही। उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि अगले साल राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ना चाहिए।
इधर, कांग्रेस के एक नेता ने तो नाम नहीं प्रकाशित करने की शर्त पर कहा कि गठबंधन एक विचारधारा वाले दलों के बीच हो सकता है, परंतु राजद या महागठबंधन में शामिल अन्य दल कांग्रेस की विचारधारा से अलग हैं। उन्होंने दावा किया कि इस चुनाव में आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य वर्ग को आरक्षण का विरोध करने वाले राजद के साथ जाने के कारण भी कांग्रेस को नुकसान उठाना पड़ा है। इसके अलावा भी उनका कहना है कि कांग्रेस और राजद में कई मूल अंतर है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-After the election result, the voice start to get up in Bihar Congress
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: after the election result, bihar congress, national democratic alliance, lok sabha elections, congress, rjd, bjp, kishanganj seat, bihar assembly, congress leader sadanand singh, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, patna news, patna news in hindi, real time patna city news, real time news, patna news khas khabar, patna news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved