• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

ऊँ के उच्चारण से दूर होती हैं बीमारियाँ, नियमित जाप से होते हैं लाभ

Diseases are removed by chanting Om, regular chanting gives benefits - Health Tips in Hindi

भारतीयों का एक लंबा इतिहास रहा है और यह अतिशयोक्ति नहीं होगी यदि कोई यह कहे कि प्राचीन भारतीय ऋषियों ने ओम (ऊँ) के अस्तित्व और ओम जप के स्वास्थ्य लाभों की खोज की थी। तब से, प्रत्येक हिंदू धार्मिक घर में पवित्रता के प्रतीक के रूप में महान आध्यात्मिक शक्तियों के साथ इसका पालन किया गया है।

ओम का जाप भी अच्छे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को प्रोत्साहित करने में सहायक पाया गया है। कोई भी व्यक्ति अपनी जीभ का प्रयोग किए बिना ओम का जाप करके उसकी शक्ति का अनुभव कर सकता है।

जब आप इस पवित्र मंत्र का जाप करेंगे तो पूरे शरीर में कुछ कंपन महसूस होंगे। आधुनिक दुनिया ने एक विशेष ओम चिकित्सा विकसित की है जिसकी मदद से विभिन्न प्रकार के रोगों को ठीक करने के क्षेत्र में दावा किया जाता है।
आज हम अपने पाठकों को इस आलेख के जरिये ओम जप के स्वास्थ्य लाभों के बारे में बताने जा रहे हैं।
1. एकाग्रता में सुधार करने में मदद करता है

जब आप ऊँ का जप करते हैं, तो आप अपनी सारी चिंताओं और तनावों को दूर करते हुए अपने आप को पूरी दुनिया से अलग कर लेते हैं। नियमित जप से आपका मन संस्कृत के इस छोटे से शब्द पर केंद्रित हो जाता है। जैसे-जैसे आप अभ्यास करते हैं, आप जो कुछ भी करते हैं उसमें आप अधिक चौकस हो जाते हैं और आपकी एकाग्रता का स्तर बेहतर होता है।

2. तनाव और चिंता को कम करता है
हाल ही में आई एक मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार ओम का जाप करने से तनाव कम होता है। ओम जप के सबसे बड़े स्वास्थ्य लाभों में से एक यह है कि यह तनाव के स्तर को कम करता है। यह चिंता और तनाव से राहत प्रदान करता है। नियमित नामजप सुनिश्चित करता है कि आप भीतर से शांति महसूस करते हैं और किसी भी प्रकार के कार्य को करते समय कम विचलित होते हैं।

ऊँ जप का नियमित अभ्यास करने वाला व्यक्ति भीतर से शांत और पवित्र महसूस करता है। यह ध्यान का एक रूप है जो आपको अपने आंतरिक स्व के बारे में अधिक जानने में मदद करता है और आप जो कुछ भी करते हैं उसमें अधिक अर्थ जोड़ते हैं।

3. कायाकल्प और शांत करना
तनाव जीवन का एक नियमित हिस्सा है। लेकिन बहुत अधिक चिंता और तनाव शरीर में विषाक्त पदार्थ पैदा करते हैं जिससे हानिकारक शारीरिक और मानसिक रोग होते हैं। और ऊँ का जाप तनाव को कम करके विष उत्पादन की संभावनाओं को समाप्त करता है और जब भी आप जप करना शुरू करते हैं तो आप तरोताजा महसूस करते हैं।

इस प्रकार, ऊँ जप के स्वास्थ्य लाभों में से एक यह है कि यह आपको खुश, तरोताजा महसूस कराता है और आपके परेशान हृदय को शांत करता है। नियमित ऊँ जप भी आपके मिजाज को कम करने में मदद करता है और इस प्रकार आपकी कार्य क्षमता और प्रदर्शन में सुधार करता है। नियमित ऊँ जप अभ्यास के साथ आप अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन में भी सुधार कर सकते हैं।

4. रीढ़ की हड्डी को ताकत देता है
शोध बताते हैं कि ऊँ का जाप व्यक्ति की रीढ़ की हड्डी पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालता है। नाम जप के दौरान उत्पन्न स्पंदनों से मेरुदंड की कार्यक्षमता में सुधार होता है। लेकिन इसके लिए आपको उचित मार्गदर्शन में नियमित रूप से इसका अभ्यास करना चाहिए।

5. शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है
ऊँ का जाप एक प्रकार का ध्यान है और जब आप नियमित रूप से इस ध्यान को करते हैं, तो यह आपके शरीर की विषहरण प्रक्रिया को बेहतर बनाने में योगदान देता है। रक्त परिसंचरण में सुधार और शरीर की कोशिकाओं को ऑक्सीजन युक्त आपूर्ति ऊँ जप के दो सबसे महत्वपूर्ण स्वास्थ्य लाभ हैं। जब आप ऊँ का जाप करते हैं तो आपको गहरी सांस लेनी होती है। यह गहरी सांस लेने की प्रक्रिया विषाक्त पदार्थों से छुटकारा पाने में मदद करती है। इसीलिए; प्राचीन लोगों का मानना था कि ऊँ का जाप बाहरी और आंतरिक रूप से आपकी कामुकता और यौवन को पुनस्र्थापित करता है।

6. हृदय और पाचन तंत्र की कार्यप्रणाली में सुधार करता है
ऊँ का जाप शरीर के विभिन्न अंगों में रक्त के प्रवाह को नियंत्रित करता है। इस प्रकार, यह रक्तचाप और उच्च रक्तचाप के लक्षणों को नियंत्रित करने में मदद करता है। जब आप नामजप के दौरान बाहरी दुनिया से अलग हो जाते हैं, तो आपकी श्वास, श्वसन और हृदय की धडक़न सामान्य हो जाती है।

इस प्रकार नियमित अभ्यास से आपके हृदय की कार्यप्रणाली में सुधार होता है। इसके अलावा, यह आपके पाचन तंत्र के कामकाज को बेहतर बनाने में भी मदद करता है।

7. अच्छी नींद सुनिश्चित करता है

तनाव और व्यस्त जीवनशैली आपकी दिनचर्या को बुरी तरह प्रभावित करती है। देर रात तक काम करना और सुबह देर से उठना आपके पूरे शरीर के चक्र को बिगाड़ देता है। आप नियमित रूप से ऊँ जप का अभ्यास करके अपनी नींद में सुधार कर सकते हैं और पैटर्न को जगा सकते हैं। यह न केवल यह सुनिश्चित करता है कि आप जल्दी सो जाएं, बल्कि यह भी कि आपको अच्छी नींद और पर्याप्त नींद मिले।

8. आपको भावनात्मक रूप से स्थिर बनाता है
भावनात्मक अस्थिरता असफलता के कारणों में से एक है। जब आप चिंतित, क्रोधित, निराश या चिड़चिड़े होते हैं, तो इसका सीधा असर आपके करियर पर पड़ता है। आपका व्यवहार तर्कहीन और अव्यवहारिक हो जाता है जिससे आप परेशान भी हो सकते हैं। हालाँकि, आप नियमित रूप से ऊँ का जाप करने से अत्यधिक लाभ उठा सकते हैं क्योंकि यह आपको अपनी भावनात्मक स्थिति पर नियंत्रण पाने में मदद करता है।

9. तर्क क्षमता में सुधार, नकारात्मकता को कम करता है
जब भी कोई अप्रिय घटना घटती है तो अशांत मन में सबसे पहले नकारात्मक सोचने की प्रवृत्ति होती है। लेकिन नियमित ऊँ जप यह सुनिश्चित करता है कि आप विकट परिस्थितियों में भी सकारात्मक बने रहें। आपकी तर्क क्षमता में सुधार होता है और आप कठिन परिस्थितियों में सही और बेहतर निर्णय लेने में सक्षम होते हैं। आप सही और नकारात्मक लोगों के बीच अंतर करना भी शुरू कर देते हैं और इस तरह दोस्तों का एक सकारात्मक समूह चुनते हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Diseases are removed by chanting Om, regular chanting gives benefits
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: diseases are removed by chanting om, regular chanting gives benefits
Khaskhabar.com Facebook Page:

लाइफस्टाइल

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved