• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 3

निर्जला एकादशी: पूजन के बाद प्रभु की आरती करना श्रेष्ठ

आज निर्जला एकादशी है। हिंदू धर्म में एकादशी का व्रत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। माना जाता है कि ज्येष्ठ महीने की निर्जला एकादशी बड़ी एकादशी होती है। इस व्रत में जल से भरा घड़ा, पंखा, मौसमी फल आदि का दान बहुत ही पुण्यदायी होता है। इस व्रत को पूरे विधि विधान से करने पर भगवान विष्णु की कृपा हमेशा उस व्यक्ति पर बनी रहती है। इसलिए आज हमने अपने पिछले लेख में आपको इस व्रत की पूजा विधि,​ व्रत कथा और इसके महत्व को बताया है। इस लेख में हम आपको भगवान विष्णु जी की आरती भी बता रहे हैं।

भगवान विष्णु सृष्टि के पालनकर्ता हैं और इनकी साधना करने से मनुष्य का जीवन सरल और सफल हो जाता है। इनका नाम मात्र लेने से ये अपने भक्तों का बेड़ा पर लगाते हैं। इनके पूजन के बाद प्रभु की आरती करना श्रेष्ठ माना गया है।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-here is lord vishnu aarti
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: here is lord vishnu aarti, nirjala ekadashi vrat, pooja vidhi and story, today nirjala ekadashi vrat, ekadashi vrat katha, ekadashi vrat vrat pooja vidhi, strology tips, astrology, sun god, lord vishnu, sun planet, job, astrology in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

जीवन मंत्र

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved