• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

शुरू हुआ हिन्दू पंचांग का अंतिम मास फाल्गुन, आएंगे यह त्योहार, बढ़ेगी गर्मी

Falgun, the last month of Hindu calendar has started, this festival will come, heat will increase - Puja Path in Hindi

फाल्गुन का महीना हिन्दू पंचांग का अंतिम महिना है। इस महीने की पूर्णिमा को फाल्गुनी नक्षत्र होने के कारण इस महीने का नाम फाल्गुन है। इस महीने को आनंद और उल्लास का महीना कहा जाता है। इस महीने से गर्मी की शुरुआत होती है और सर्दी कम होने लगती है। बसंत का प्रभाव होने से इस महीने में प्रेम और रिश्तों में बेहतरी आती जाती है। इस महीने से खान पान और जीवनचर्या में जरूर बदलाव करना चाहिए। मन की चंचलता को नियंत्रित करने के प्रयास करने चाहिए। इस बार फाल्गुन मास 25 फरवरी यानी आज से 25 मार्च तक रहेगा।

प्रमुख व्रत-त्योहार

फाल्गुन शुक्ल अष्टमी को मां लक्ष्मी और मां सीता की पूजा का विधान है। फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को भगवान शिव की उपासना का महापर्व शिवरात्रि भी मनाई जाती है। फाल्गुन में ही चन्द्रमा का जन्म भी हुआ था, इसलिए इस महीने में चन्द्रमा की भी उपासना होती है। फाल्गुन में प्रेम और आध्यात्म का पर्व होली भी मनाई जाती है। 28 फरवरी 2024 (बुधवार) - द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी

1 मार्च 2024 (शुक्रवार) - यशोदा जयंती

3 मार्च 2024 (रविवार)- शबरी जयंती, भानु सप्तमी

4 मार्च 2024 (सोमवार) - जानकी जयंती

6 मार्च 2024 (बुधवार) - विजया एकादशी

8 मार्च 2024 (शुक्रवार) - महाशिवरात्रि, प्रदोष व्रत (कृष्ण), मासिक शिवरात्रि, पंचक शुरू

10 मार्च 2024 (रविवार) - फाल्गुन अमावस्या

12 मार्च 2024 (मंगलवार) -फुलैरा दूज, रामकृष्ण जयंती

13 मार्च 2024 (बुधवार) - विनायक चतुर्थी

20 मार्च 2024 (बुधवार) - आमलकी एकादशी

22 मार्च 2024 (शुक्रवार) - प्रदोष व्रत

24 मार्च 2024 (रविवार) - होलिका दहन, फाल्गुन पूर्णिमा व्रत

25 मार्च 2024 (सोमवार)- होली (धुलेंडी), चंद्र ग्रहण

फाल्गुन में आता है होली पर्व
फाल्गुन मास में पड़ने वाली होली इस बार 24 मार्च की पड़ रही है। होली फाल्गुन माह की पूर्णिमा को मनाई जाती है। वहीं, फाल्गुन मास में अमावस्या का भी विशेष महत्व है। इस दिन दान, तर्पण आदि शुभ माना जाता है। धार्मिक मान्यता है कि इस दिन उपवास रखने से व्यक्ति के जीवन में सुख-समृद्धि का विकास होता है। फाल्गुन के अंतिम दिन पूर्णिमा और होली पर्व मनाया जाता है।
किस देवता की उपासना करें?


फाल्गुन महीने में श्रीकृष्ण की पूजा उपासना विशेष फलदायी होती है। इस महीने में बाल कृष्ण, युवा कृष्ण और गुरु कृष्ण तीनों ही स्वरूपों की उपासना की जा सकती है। संतान के लिए बाल कृष्ण की पूजा करें। प्रेम और आनंद के लिए युवा कृष्ण की उपासना करें। ज्ञान और वैराग्य के लिए गुरु कृष्ण की उपासना करें।

नियम और सावधानियां

इस महीने में प्रयास करके शीतल या सामान्य जल से स्नान करें। भोजन में अनाज का प्रयोग कम से कम करें। ज्यादा से ज्यादा फल खाएं। कपड़े ज्यादा रंगीन और सुंदर धारण करें। सुगंध का प्रयोग करें। नियमित रूप से भगवान कृष्ण की उपासना करें। पूजा में फूलों का खूब प्रयोग करें। इस महीने में नशीली चीजों और मांस-मछली के सेवन से परहेज करें।

नोट: कंटेंट का उद्देश्य मात्र आपको बेहतर सलाह देना है। इस संदर्भ में हम किसी प्रकार का कोई दावा नहीं करते हैं।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Falgun, the last month of Hindu calendar has started, this festival will come, heat will increase
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: falgun, the last month of hindu calendar has started, this festival will come, heat will increase, astrology in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

जीवन मंत्र

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2024 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved