• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

तुलसी से मिलते हैं शुभ-अशुभ के संकेत, इसके पानी से दूर करें घर की परेशानियाँ

Tulsi gives auspicious and inauspicious signs, remove the problems of the house with its water - Jyotish Nidan in Hindi

तुलसी के पौधे को हिंदू धर्म में बहुत ही पवित्र माना जाता है, इसे धर्मग्रन्थों में देवी का दर्जा दिया गया है। कहा जाता है कि तुलसी भगवान विष्णु को सर्वाधिक प्रिय थी। तुलसी के पौधे में देवी-देवताओं का वास माना जाता है। इसका पौधा कमोबेश हर घर में दिखाई देता है, जहाँ इसकी रोज प्रात: और सायंकाल के समय दीपक जलाकर पूजा की जाती है। इसमें नियमित रूप से जल चढ़ाया जाता है। घर के अन्दर पूजा के स्थान पर देवी-देवताओं की मूर्तियों के सामने इसके पत्तों को पूजा के लिए रखा जाता है। नियमित तौर पर इसकी पूजा करने से घर में सुख-समृद्धि, शांति व खुशहाली का आगमन होता है। शास्त्रों का कहना है कि तुलसी का पौधा जीवन में होने वाले शुभ-अशुभ के बदलाव का संकेत देता है।
आज हम अपने पाठकों को इसी के बारे में बताने जा रहे हैं। साथ ही हम आपको तुलसी के पानी के कुछ उपाय भी बताने जा रहे हैं कि किस तरह ये घर की परेशानियाँ दूर करता है और घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है।

घर में करें तुलसी के पानी का छिडक़ाव
धार्मिक मान्यताओं अनुसार तुलसी को बेहद पवित्र माना जाता है। ऐसे में आप घर पर तुलसी पानी का छिडक़ाव भी कर सकती हैं। इसके लिए रातभर तुलसी की पत्तियों को पानी में भिगोएं। फिर रोजाना सुबह-शाम पूजा के बाद इस पानी का पूरे घर में छिडक़ाव करें। मान्यता है कि इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। घर में सुख-समृद्धि, शांति व खुशहाली बनी रहती है।

तुलसी का पौधा सूखना
यदि अचानक से तुलसी का पौधा सूखने लगे तो यह घर में आने वाले संकटों का संकेत माना जाता है। तुलसी लगाने से सुख-समृद्धि आती है इसलिए माना जाता है कि यदि तुलसी सूखने लगे तो आपको धन सम्बन्धी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में आपको भगवान विष्णु की आराधना करनी चाहिए। यदि तुलसी का पौधा सूख जाए तो उस पौधे को हटा कर उसकी जगह दूसरा पौधा लगा दें। हालांकि अगर तुलसी का पौधा सूखने लगे तो यह जानना भी आवश्यक है कि कहीं उसकी देखभाल में कोई कमी तो नहीं है।

नए पौधे का सूख जाना
यदि आप तुलसी का नया पौधा अपने घर-आंगन में लगाते हैं और वह सूखकर झड़ जाता है तो यह पितृ दोष होने का संकेत माना जाता है। ऐसे में आपको पितरों के निमित्त दान करके उनसे क्षमायाचना करनी चाहिए और किसी योग्य ज्योतिषी से सलाह लेकर पितृदोष निवारण के उपाय करने चाहिए।

तुलसी के पौधे का खूब हरा-भरा रहना
यदि आपके घर में तुलसी का पौधा हमेशा खूब फलता-फूलता है या अचानक हरा-भरा हो गया है तो यह बेहद ही शुभ संकेत माना जाता है। यह किसी अच्छे समाचार का संकेत माना जाता है। मान्यता है कि जहाँ तुलसी हरी-भरी रहती हैं, वहाँ भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी दोनों की कृपा बनी रहती है। ऐसे घर में सदैव सुख-समृद्धि का वास होता है।

कारोबार में तरक्की के लिए
अगर आपका कारोबार धीमा चल रहा है तो आप तुलसी के पानी से जुड़ा उपाय कर सकते हैं। इसके लिए तुलसी के पत्तों को तीन दिन तक पानी में भिगोकर रखें। बाद में इस पानी का छिडक़ाव अपने दफ्तर, दुकान या कारखाने पर सुबह-शाम पूजा के बाद करें। मान्यता है कि इससे कार्यक्षेत्र में आ रही समस्याएँ दूर होकर तरक्की के रास्ते खुलते हैं।

तुलसी के पानी से लड्डू गोपाल जी को स्नान कराने के फायदे
अगर आपके घर में लड्डू गोपाल जी हैं तो आप उन्हें तुलसी जल से स्नान करवा सकते हैं। मान्यताओं अनुसार भगवान श्रीकृष्ण को तुलसी अतिप्रिय है। ऐसे में इससे लड्डू गोपाल जी का स्नान करवाने से उनकी विशेष कृपा बरसेगी।

घर में कोई बीमार हो
अगर घर में कोई लंबे समय से बीमार है तो उस पर भी तुलसी के पानी का छिडक़ाव करें। धार्मिक मान्यताओं अनुसार इससे बीमारी जल्दी ही ठीक हो सकती है। मगर इसके साथ ही मरीज की दवाओं और खानपान का खास ध्यान रखें।

आलेख में दी गई जानकारियों को लेकर हम यह दावा नहीं करते कि यह पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Tulsi gives auspicious and inauspicious signs, remove the problems of the house with its water
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: tulsi gives auspicious and inauspicious signs, remove the problems of the house with its water, astrology in hindi
loading...
Khaskhabar.com Facebook Page:

जीवन मंत्र

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved