• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 5

Diwali 2019 : जानिए दिवाली पर क्यों होती हैं लक्ष्मीजी की पूजा, इन चीजों का लगाएं भोग

हिंदुओं का प्रमुख त्योहार दिवाली पर्व को भारत में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इस बार दिवाली रविवार (27 अक्टूबर) को है और आप सभी जानते ही हैं कि दीपावली के दिन मां लक्ष्मी और गणेश जी की विशेष पूजा की जाती है। दिवाली के दिन देवी लक्ष्मी की साल की सबसे बड़ी पूजा होती है। लेकिन क्या आप जानते है कि दिवाली पर लक्ष्मीजी की पूजा क्यों की जाती है।

दरअसल, मान्यता है कि प्राचीन काल में देवताओं और दानवों ने मिलकर समुद्र मंथन किया था। इस मंथन में ही कार्तिक मास की अमावस्या तिथि पर देवी लक्ष्मी प्रकट हुई थीं। इसके बाद भगवान विष्णु ने लक्ष्मी का वरण किया था। इसलिए हर साल कार्तिक अमावस्या पर लक्ष्मी पूजन किया जाता है। समुद्र मंथन से देवताओं के वैद्य भगवान धनवंतरि भी प्रकट हुए थे। इनकी पूजा धनतेरस पर की जाती है।

कहते हैं यह पूजा हर घर में बड़े ही विधि और विधान से की जाती है और साथ ही ऐसा कहा जाता है कि दिवाली पर देवी लक्ष्मी का पूजन करने से साल भर घर में धन की कमी नहीं होती। वहीं दिवाली के दिन मां लक्ष्मी को उनका मनपसंद प्रसाद लगाने से बहुत लाभ मिलता है। इस दिन देवी लक्ष्मी को प्रसाद में क्या-क्या चढ़ाना चाहिए आइए जानते हैं।

सिंगाड़ा...

ये भी पढ़ें - अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-deepavali date 2019 dhanteras date 2019 shubh muhurat in deepawali
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: diwali, diwali 2019, deepawali, deepawali 2019, dharm news, astro news, astrology news in hindi, vastu tips, jeevan matra, astrology, astu tips for home, diwali festival 2019, vastu tips to getting success, vastu tips in hindi, vastu tips in hindi for home, vastu tips for success hindi, hindi vastu tips for home, diwali puja, astrology in hindi, deepavali date 2019 dhanteras date 2019 shubh muhurat in deepawali
Khaskhabar.com Facebook Page:

जीवन मंत्र

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved