• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 3

बाबा वैद्यनाथ धाम में ‘कामना लिंग’ जलाभिषेक से पहले ‘संकल्प’ जरूरी

देवघर। झारखंड के देवघर जिला स्थित प्रसिद्ध तीर्थस्थल वैद्यनाथ धाम स्थित ज्योर्तिलिंग ‘कामना लिंग’ को भगवान शंकर के द्वादश ज्योतिर्लिगों में सर्वाधिक महिमामंडित माना जाता है। मान्यता है कि यहां जलाभिषेक करने के पूर्व ‘संकल्प’ कराना अनिवार्य होता है। वैसे तो किसी भी पूजा के पूर्व संकल्प की पुरानी मान्यता है, परंतु यहां दो बार संकल्प की अनोखी परंपरा है।

हजारों श्रद्धालु मनोकामना पूर्ति के लिए कामना लिंग पर प्रतिदिन जलाभिषेक करने पहुंचते हैं, परंतु भगवान शिव के सबसे प्रिय महीने सावन में यहां उनके भक्तों का हुजूम उमड़ पड़ता है। सावन महीने में प्रतिदिन यहां करीब 80 हजार भक्त आकर ज्योर्तिलिंग पर जलाभिषेक करते हैं। इनकी संख्या सोमवार के दिन और बढ़ जाती है।

पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक, संकल्प के बिना कोई पूजा पूर्ण नहीं होती। वैद्यनाथ धाम के पुजारी पंडित मौनी द्वारी ने बताया कि वैद्यनाथ धाम की कांवड़ यात्रा में संकल्प की परंपरा काफी पुरानी है। अन्य तीर्थस्थलों में एक बार संकल्प की परंपरा है, परंतु वैद्यनाथ धाम की कांवड़ यात्रा में दो बार संकल्प की प्रथा है।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Before Jalabhishek in Jharkhand Baba Vaidyanath Dham resolution is necessary
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: jalabhishek, jharkhand, baba vaidyanath dham, resolution is necessary, religious news in hindi, hindu dharma, shiv, kanwar yatra, sawan month, deoghar, astrology in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

जीवन मंत्र

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved