CP1 राहत फतेह अली खान : अनूठी आवाज का जादूगर - www.khaskhabar.com
  • Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia

राहत फतेह अली खान : अनूठी आवाज का जादूगर

published: 12-09-2011

मुम्बई। भारतीय श्रोताओं को इस समय राहत फतेह अली खान द्वारा गाए बॉडीगार्ड के गीत तेरी मेरी प्रेम कहानी, दो लफ्जों में बयां न हो पाए को गुनगुनाते हुए देखा और सुना जा रहा है। इस गीत की धुन में जितनी कशिश है उससे कहीं ज्यादा इसकी गायकी में मिठास है। जैसे ही कानों में राहत फतेह अली खान की आवाज सुनाई देती है श्रोता मंत्रमुग्ध होकर गीत के बोलो में खो जाता है। आवाज का अनूठापन और रूहानियत श्रोताओं और दर्शकों को आत्मा के साथ जोडता है और चाहकर भी इस आवाज को भुलाया नहीं जा सकता है। भारतीय फिल्म उद्योग में राहत फतेह अली खान को लाने का श्रेय निर्माता निर्देशक महेश भट्ट की पुत्री पूजा भट्ट को जाता है जिन्होंने उनकी आवाज का पहली बार इस्तेमाल अपने निर्देशन में बनी फिल्म पाप में किया था। पाप में उनकी आवाज में गाया "लागी तुझ से मन की लगन, लगन लागी तुझ से मन की लगन" ने फिल्म से ज्यादा लोगों को अपने साथ जोडा। राहत फतेह अली खान मानते हैं कि उनकी आवाज में अनूठापन और रूहानियत है, उस की वजह कव्वाली है। उनका कहना है कि मेरी आवाज बचपन से ऎसी नहीं थी। हमारे परिवार में कव्वाली गाने की परंपरा पीढी-दर-पीढी चली आ रही है, मेरी आवाज का अनूठापन और रूहानियत की वजह कव्वाली ही है। मेरा परिवार चार-साढ़े चार सौ सालों से कव्वाली की खिदमत करता चला आ रहा है। बचपन से गायक बनने का सपना संजोय राहत ने संगीत की शिक्षा अपने तायाजी स्वर्गीय नुसरत फतेह अली खान ने प्राप्त की। नुसरत फतेह अली खान ने मुझे बेटे की तरह शास्त्रीय संगीत और कव्वाली सिखाई। मैं उस्ताद नुसरत फतेह अली खान का दत्तक पुत्र था। उन्होंने अपनी जिंदगी में ही घोषणा कर दी थी कि संगीत में मैं उनका उत्तराधिकारी हूं। आज राहत फतेह अली खान की बॉलीवुड में एक अलग पहचान बन गई है। हिंदी फिल्मों में पाश्र्वगायन का उनका सफर 2003 की फिल्म "पाप" के गाने "लागी तुझ से मन की लगन" से शुरू हुआ।1997 में खां साहेब के गुजरने के बाद 1998 में मैंने एक एलबम बनानी शुरू की जिसका नाम लगन था। इसी में ये गाना "लागी तुझ से लगन" था। लेकिन जो कंपनी ये एलबम बना रही थी वो बंद हो गई और एलबम बीच में ही रूक गई। फिर 2003 में पूजा भट्ट ने कंपनी के मालिक से कहा की कि उन्हें अपनी फिल्म में यह गाना रखना है और उन्होंने उस कम्पनी से इस गीत के अधिकार लेकर अपनी फिल्म पाप में रखा। तब से आज तक हिंदी फिल्मों में राहत फतेह अली खान के गाये गाने बेहद लोकप्रिय हुए हैं। गत वर्ष सलमान खान की दबंग में उनका गाया गीत तेरे मस्त-मस्त दो नैन मेरे दिल का ले गए चैन, मेरे दिल का ले गए चैन तेरे मस्त-मस्त दो नैन ने दर्शकों को दीवानगी की हद दीवाना बना दिया। वैसे खुद राहत फतेह अली खान का पसंदीदा फिल्मी गीत, जिसे उन्होंने ख़ुद नहीं गाया, फिल्म "हम दोंनो" का लता मंगेशकर द्वारा गाया "अल्लाह तेरो नाम" है। इन दिनों राहत फतेह अली खान एक एलबम पर काम कर रहे हैं जो सूफी कव्वालियों पर है। इस एलबम का नाम है "इश्क—गालिब से इकबाल तक"।

Khaskhabar.com Facebook Page:

हॉलीवुड

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2019 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved