1 of 2

सीसीटीवी में कैद हुई बाइक चोरी की वारदात, पुलिस जांच में जुटी

stealing bike incident was captured on CCTV , the police involved in the investigation - News in Hindi

उदयपुर। शहर में बाइक चोरी की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं। कई बार सीसीटीवी कैमरे में चोरों की तस्वीरें कैद होने जाने के बाद भी पुलिस इन बाइक चोरों तक नहीं पहुंच पा रही है। रविवार सुबह भी एक निजी अस्पताल के बाहर खड़ी बाइक को चोर डुप्लीकेट चाबी की मदद लेकर फरार होने में सफल रहा। बाइक चोरी की यह पूरा घटनाक्रम अस्पताल के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गया। घटना हाथीपोल थाना क्षेत्र के अमर आशीष हॉस्पिटल के बाहर की रविवार सुबह करीब पौने 6 बजे की है। सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई तस्वीरों से साफ़ देखा सकता है कि एक युवक पहले अस्पताल के बाहर आता है और वहां के सुनसान माहौल को अच्छे से देख-समझ डुप्लीकेट चाबी से वहां एक बाइक को लेकर फरार हो गया।

1 मिनट 20 सेकंड चला घटनाक्रम
और पढ़े...

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:stealing bike incident was captured on CCTV , the police involved in the investigation
(News in Hindi खास खबर पर)
Advertisement
loading...
Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
स्थानीय ख़बरें
Advertisement
Advertisement

राजस्थान से

सर्वाधिक पढ़ी गई

प्रमुख खबरे

Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

# भरतपुर। सांसद बहादुर कोली सडक़ दुर्घटना में हुए घायल। भरतपुर से दिल्ली जा रहे थे सांसद कोली। यमुना एक्सप्रेस वे पर हुई दुर्घटना। स्कॉर्पियो गाड़ी के टूटे शीशे। लोकसभा में भाग लेने जा रहे थे सांसद कोली। # झुंझुनूं। 13 हैड कांस्टेबलों को पदोन्नति पर चिह्न वितरित, एएसआई बनने पर एसपी एस.के. गुप्ता ने लगाए स्टार, वार्षिक परेड व क्यूआरटी टीम के डेमो का भी किया निरीक्षण, संपर्क सभा में जवानों ने एसपी के समक्ष रखी समस्याएं, इस साल अब तक 52 हैड कांस्टेबल बन चुके हंै एएसआई। # भरतपुर। भरतपुर के भाजपा कार्यकर्ताओं को मिली निराशा। 7 बोर्ड-निगमों में अध्यक्ष व 51 सदस्यों की नियुक्ति में भरतपुर जिले से एक भी कार्यकर्ता का नाम नहीं। नगर सुधार न्यास के अध्यक्ष पद पर भी अभी तक नियुक्ति नहीं होना चर्चा का विषय। भाजपा में गुटबाजी माना जा रहा कारण। आपसी खीचतान व चहेतों को पद दिलाने की मच रही होड़। कार्यकर्ताओं में दिखने लगी निराशा।