1 of 6

एटीएम की लाइन में नहीं दिखे हुक्मरान और नौकरशाह क्या है माजरा ?

सोनभद्र। हज़ार और पांच सौ की नोट बंदी के बाद से सिपाही से लेकर विधायक, मंत्री, सांसद या उनके कोई प्रतिनिधि या यूं कहें कि किसी न किसी क्षेत्र में प्रभाव रखने वाला कोई भी व्यक्ति या बड़ा व्यापारी बैंकों पर लाइन में लगा नहीं दिखा। पर काम किसी का नहीं रुका है। उनके यहां शादी समारोह से लेकर हर आयोजन धूमधाम से हो रहे हैं। सिर्फ और सिर्फ दिक्कतें हैं तो आम आदमी की, जिसका कोई प्रभाव नहीं है। बैंकों में अभी भी दो और चार हजार रुपये निकालने के लिए हर दिन लाइन भी उनहीं की लग रही है।ऐसे में हर किसी के ज़ेहन में एक सवाल कौंध रहा है कि नोट बंदी किसको प्रभावित करने के लिए की गई ? क्या वह इससे प्रभावित हुआ।
खास खबर Exclusive: कई गलियों में बार बार बिका किशोर, पढ़ कांप जाएगी रूह
और पढ़े...

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:rulers and bureaucrats were not in ATM line what is the matter?
(News in Hindi खास खबर पर)
loading...
Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
स्थानीय ख़बरें
Advertisement

उत्तर प्रदेश से

सर्वाधिक पढ़ी गई

प्रमुख खबरे

Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

# उत्तर प्रदेश सरकार ने12 दिसम्बर को ईद-ए-मिलादुन नबी (बारावफात) का सार्वजनिक अवकाश घोषित किया # इलाहाबाद : पीसीएस प्री 2016 का परीक्षा परिणाम हाईकोर्ट ने रद्दकिया # पढ़ाई के लिए कितनी लगेगी नई फीस, वेबसाइट के जरिए लें जानकारी # खासखबर EXCLUSIVE: यूपी चुनाव कब होंगे? # अयोध्या : साकेत महाविद्यालय छात्र संघ चुनाव में एबीवीपी की एकता सिंह अध्यक्ष,शुभेंद्र प्रताप सिंह उपाध्यक्ष व रजनीश वर्मा महामंत्री निर्वाचित # इलाहाबाद : चुनाव आयोग ने यूपी बोर्ड परीक्षाओं की तारीाखों पर लगायी रोक, आयोग के अगले आदेश तक रोक रहेगी जारी # हापुड़ : NH-24 पर कोहरे के चलते ट्रक और कार की भिड़ंत में तीन लोगों की मौत, तीन घायल # राज्य निर्वाचन ने बनाया एप्लिकेशन, घर बैठे ले सकते हैं पोलिंग बूथ की जानकारी # लखनऊ : महिलाओं को पैर की जूती समझने वाले लोग तीन तलाक के पक्ष में- साध्वी निरंजन