• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
  • Results
Advertisement
Advertisement
1 of 4

प्यास बुझाने वाली झील बनी मनोरंजन का साधन

जैसलमेर । सदियों से जिले की जनता को पीने का पानी उपलब्ध कराने वाली ऐतिहासिक गड़ीसर झील अब दुर्दशा का शिकार हो गई है । इसकी इतना दुर्दशा हो गई कि इंसान हाथ धोना भी पसंद नहीं कर रहा है और पशु इनसे किनारा करने लगे हैं । अब केवल भैंसे ही इस झील के पानी से अपनी गर्मी शांत करती दिखाई दे रही है या फिर इस पानी में गंदी मछलियों से अठखेलियां करते लोग नजर आ रहे हैं । प्यास बुझाने वाली झील अब मनोरंजन का साधन बन गई है । मरुस्थल की धरा पर अमृत स्त्रोत के रुप में स्थापित गड़ीसर झील प्रशासन की उदासीन के कारण अपना मूल अस्तित्व खोती जा रही है। गड़ीसर झील के लिए प्रशासन ना तो कोई विशेष इंतजाम कर रहा है और नहीं इसे सहेजने के प्रयास होते दिख रहे है।



खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:recreation lake supplying water
(News in Hindi खास खबर पर)
Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

Advertisement

प्रमुख खबरे

आपका राज्य
Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Advertisement
# बाड़मेर - बायतु में ट्रेन के आगे आने से एक शिक्षक की मौत, चिमनजी का निवासी है मृतक, बनिया सांडा धोरा रेलवे स्टेशन के पास की है घटना
Copyright © 2017 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved