1 of 2

राहुल संदेश यात्रा का कई जगह स्वागत

आजमगढ़। क्षेत्र के बिभिन्न बाजारों में कांग्रेसियों ने राहुल सन्देश यात्रा का जोरदार स्वागत किया। राहुल सन्देश यात्रा पूर्व सांसद नरेश यादव व पूर्व विधान परिषद सदस्य मणिशंकर पाण्डेय एवं पार्टी के जिला अध्यक्ष हवलदार सिंह के नेतृत्व सेंटरवा बाजार में पहुंची जहा निजामाबाद पार्टी प्रभारी मदनलाल यादव के अगुवाई में मिर्जापुर ब्लाक के अध्यक्ष सूर्य नारायण तिवारी, नन्दलाल यादव, त्रिभुवन यादव, राम नरायन राय, दशरथ यादव, मिसम, पवन पासवान, गुड्डू यादव, धर्म राज यादव, रियाज अहमद, सुबास तिवारी, इब्राहिम खान, जगरनाथ यादव, पिंटू पाण्डेय, असगर अली, सतेंद्र यादव ने बड़े ही उत्साह से सन्देश यात्रा का स्वागत किया।

यह भी पढ़े

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:rahul sandesh yatra reach in azamgarh
(News in Hindi खास खबर पर)
Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

Advertisement

प्रमुख खबरे

आपका राज्य
Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

# बूथ स्तरीय जागरूकता समूह करेगा वोटरों को जागरूक # डा. बंसल मर्डर मिस्ट्री : चुनावी मुद्दा बनने से पहले सीबीआई को मिल सकती है जांच # जाट आरक्षण संघर्ष समिति ने की पंचायत # मतदाता जागरुकता रैली का आयोजन # वाराणसी- गणतंत्र दिवस के चलते एयरपोर्ट की बढाई सुरक्षा # 12 हजार का कुख्यात ईनामी बदमाश संजीव खड़कड़ी गिरफ्तार # टिकट नहीं मिलने से नाराज सपा विधायकों ने अखिलेश के खिलाफ खोला मोर्चा # मायावती ने कांग्रेस का उड़ाया मजाक तो बीजेपी-सपा पर साधा जमकर निशाना # सपा प्रत्याशी सुनील चौधरी पर आचार संहिता उल्लंघन का मामला दर्ज # बसपा का समर्थन करें मुसलमान : मायावती # यूपी में ठंड से राहत, लखनऊ में स्कूल खुले # बसपा आरएसएस को आरक्षण खत्म नहीं करने देगी : मायावती # UP ELECTION: छोटे दलों की बड़ी उड़ान # सपा छोड़ बसपा में शामिल हुए पूर्व मंत्री अंबिका चौधरी # समाजवादी पार्टी ने 12 जिला कार्यकारिणी भंगकर बनाए नए जिलाध्यक्ष # स्वागत द्वारों पर लगी है प्रचार सामग्री, नहीं हो रहा आचार संहिता का पालन # गाजियाबाद: मोबाइल को लेकर हुआ विवाद तो दोस्तों पर बरसाई गोलियां, एक की मौत # वाराणसी: अस्पताल के वार्ड ब्वॉय की सिर कुचलकर हत्या # यूपी चुनाव: गठबंधन को बचाने प्रियंका आई आगे, अखिलेश के पास भेजा दूत