1 of 2

भ्रूण लिंग जांच के आरोपियों को जेल, पूछताछ में कई खुलासे

श्रीगंगानगर। भ्रूण लिंग जांच करते पकड़े गए फर्जी डॉक्टर व दलाल को बुधवार को अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट संख्या दो के समक्ष पेश किया। कोर्ट ने दोनों आरोपियों की जमानत अर्जी खारिज कर 15 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया। वहीं पकड़े गए डॉ. कंवलजीत सिंह बराड़ ने पूछताछ में कई बड़े खुलासे किए हैं।
पीसीपीएनडीटी सेल से संबंधित पीबीआई जयपुर के थाना प्रभारी उमेश निठारवाल ने बताया कि डॉ. बराड़ ने पूछताछ में बताया कि भ्रूण लिंग जांच और फिर गर्भपात करने का काम वह छह एजेंटों के माध्यम से कर रहा था। इसमें जिला चिकित्सालय श्रीगंगानगर की एक एएनएम, सादुलशहर के एक डॉक्टर, शहर के एक निजी अस्पताल के एक कंपाउंडर, एक लालपुरा के एजेंट के नाम का खुलासा किया है।

सीकर व झुंझुनूं से भी जुड़े हुए डॉक्टर के तार
और पढ़े...

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:Prison to accused of fetal sex screening
(News in Hindi खास खबर पर)
Advertisement
loading...
Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
स्थानीय ख़बरें
Advertisement

राजस्थान से

सर्वाधिक पढ़ी गई

प्रमुख खबरे

Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

# जयपुर - राज्य मंत्रिमंडल का विस्तार हो गया है। राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह में राज्यमंत्री अजय सिंह किलक व बाबूलाल वर्मा का प्रमोशन कर कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई # जयपुर - विस्तार के तहत निम्बाहेड़ा से विधायक श्रीचंद कृपलानी और अलवर के बहरोड़ से विधायक डॉ. जसवंत यादव को कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई # जयपुर - राज्यमंत्री के रूप में सीकर के खंडेला से विधायक बंशीधर बाजिया, जोधपुर के भोपालगढ़ से विधायक कमसा मेघवाल, बांसवाड़ा से विधायक धनसिंह रावत, डूंगरपुर के चौरासी से विधायक सुशील कटारा को राज्यमंत्री के रूप में शपथ दिलाई गई # उदयपुर। एमजी कॉलेज शपथ ग्रहण कार्यक्रम में हुआ विरोध। गृहमंत्री को पहुंचना था कार्यक्रम में लेकिन, नहीं पहुंचे। अपने माता-पिता की मौजूदगी में कार्यकारणी लेना चाहती थी शपथ लेकिन, कॉलेज प्रशासन ने नहीं दी थी अनुमति। कार्यक्रम के बाद विरोध करती छात्राएं निकलीं कॉलेज से बाहर। महापौर चंदर सिंह कोठारी की गाड़ी के आगे भी खड़ी हुईं छात्राएं। महापौर के समक्ष जताया विरोध। महापौर कोठारी पैदल निकल पड़े कॉलेज से। अध्यक्ष डिम्पल भावसार सहित पूरी कार्यकारिणी ने नहीं ली शपथ। अब तक 3 बार टल चुका है छात्रसंघ कार्यलय का उद्घाटन।