1 of 1

शुगर मिल के निजीकरण का विरोध शुरू

opposing the privatization of sugar mills - News in Hindi

श्रीगंगानगर । शुगर मिल का सरकार के द्वारा किए जा रहे निजीकरण के विरोध में बुधवार को मिल के बाहर एक दिन का सांकेतिक धरना देकर कर्मचारियों एवं मजदूरों ने सरकार को चेताया है , कि अगर सरकार ने शुगर मिल को निजी हाथों में दिया तो मजदूर व कर्मचारी यूनियन हड़ताल पर जाएगी और सरकार के खिलाफ आंदोलन शुरू करेगी।

वहीं मिल कर्मचारियों ने शुगर मिल के निजीकरण का विरोध करते हुए साफ़ कहा है की सरकार मिल को निजी हाथो में देकर मिल के मजदूरों व कर्मचारियों को बर्बाद करने की योजना बना रही है। वहीं निजी मिल द्वारा किसानों के गन्ने का भाव मनमुताबिक लेने से किसानों को गन्ने के पुरे दाम नहीं मिलेंगे। कर्मचारियों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए राज्य सरकार को मजदूर-किसान विरोधी सरकार बताया। शुगर मिल को चलाने के लिए प्रदेश की तीन बड़ी फर्मों ने रुचि दिखाई है। इन फर्मों ने जयपुर में शुगर मिल अधिकारियों के साथ प्री-बिड मीटिंग की। अब ये फर्मे 29 सितंबर तक ऑनलाइन टेंडर करेंगी। फिर ये टेंडर 30 सितंबर को खोले जाएंगे। उम्मीद जताई जा रही है कि 29 सितंबर तक कई और फर्म भी टेंडर करेंगी। जिस फर्म के रेट सही होंगे, शुगर मिल का संचालन दो साल के लिए उसी को सौंप दिया जाएगा। शुगर मिल डिस्टलरी प्लांट का पूरा संचालन, मरम्मत से लेकर सारा तकनीकी स्टाफ भर्ती करना समेत सब काम नई फर्म ही करेगी। सरकार का काम केवल गन्ना खरीदना, चीनी बेचना और फर्म के कामकाज पर निगरानी करना होगा।


opposing the privatization of sugar mills


खास खबर की चटपटी खबरें, अब Facebook पर पाने के लिए लाईक करें...
loading...
Advertisement
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

सर्वाधिक पढ़ी गई

प्रमुख खबरे

Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

Advertisement

सर्वाधिक पढ़ी गई

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

कोटा। चाकू की नोंक पर नाबालिग बालक के अपहरण का प्रयास, परिजनो ने थाने में दी शिकायत । कोटा। पूरक परीक्षा की तिथि बढ़ाने को लेकर यूनिवर्सिटी के छात्रों ने किया प्रदर्शन ।बांसवाड़ा - उज्जैन जिला कलेक्टर ने की घोषणाअजमेर- देश में पहली बार अजमेर रेलवे स्टेशन पर लगेंगे फेस डिटेक्शन कैमरा।जयपुर- प्रथम वैश्विक एग्रोटेक मीट नौ नवंबर से जयपुर में।