1 of 2

अब धूमिल न हो किसी प्रतिभा का चांद

कानपुर। करवाचौथ सुहागिनों का पति की सलामती को लेकर पवित्र त्यौहार है। पूरे साल इंतजार के बाद आने वाला करवाचौथ किसी की हसीन जिंदगी में एक दिलकश ख्वाब होता है लेकिन उसका क्या हो जिसके बागवन ने ही खुद अपने बाग को उजाड़ दिया हो। बेसक बात हो रही ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट प्रतिभा गौतम की। इसी साल 29 जनवरी को प्रतिभा गौतम ने आर्य सामाज विधि से मनू अभिषेक के साथ प्रेम विवाह किया था। बताते चलें कि कानपुर देहात में प्रतिभा गौतम ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट के पद पर कार्यरत थी। पुलिस की प्रथमदृष्टया जांच में पति ने पत्नी की 9 अक्टूबर की रात गला दबा कर हत्या कर दी। जिसकी विवेचना पुलिस द्वारा की जा रही है। यह उनका पहला करवाचौथ था। प्रतिभा द्वारा संजोए हुए हसीन सपने पहले करवाचौथ में यथार्थ रुप लेने वाले थे क्योंकि यह शादी के बाद का पहला करवाचौथ था। प्रतिभा एवं मशक्कत का यह फूल जो दलित समाज में बैंककर्मी के घर पैदा हुआ, बजोर मसल दिया गया। इसी कनपुरिया जमीन को कर्मस्थली बनाए प्रतिभा की इस हालत को सोचकर शहर की सुहागिनों में भी आक्रोश है। और पढ़े...

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:Now there will not clouded other pratibha moon
(News in Hindi खास खबर पर)
loading...
Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
स्थानीय ख़बरें
Advertisement

उत्तर प्रदेश से

सर्वाधिक पढ़ी गई

प्रमुख खबरे

Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope