• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

5 लाख कामगारों पर नोटबंदी की मार, फैक्ट्रियों में मशीनें शांत

जयपुर। नोटबंदी के बाद बैंकों से पर्याप्त कैश नहीं मिल पाने से इंडस्ट्री की भी मानो कमर टूट गई है। ज्यादातर इंडस्ट्रियल एरिया की फैक्ट्रियों में मशीनें ठप पड़ गई हैं। काम का लेन-देन भी रुक गया है। जहां हजारों मजदूरों की चहल-पहल रहती थी, वहां गिने-चुने लोग बेहद जरूरी ‘ऑर्डर’ वाले काम निकालने आ रहे हैं। शहर के सांगानेर, विश्वकर्मा, झोटवाड़ा, मालवीय नगर, बिंदायका, बगरू, सरना डूंगर सहित अन्य जगहों पर लगी इंडस्ट्रियों के यही हाल हैं। वजह है यहां हर दिन लाखों रुपए का लेन-देन या ऑर्डर पर काम होता है। अव्वल तो उसमें ही दोनों पक्षों ने हाथ खींच रखे हैं क्योंकि, इतने बड़े लेन-देन के लिए नया कैश नहीं है। वहीं ज्यादातर जगह पुरानी उधारी को कैसे निपटाया जाए, इस पर ही जद्दोजहद चल रही है। रही-सही कसर दिहाड़ी मजदूरों को देने के लिए पैसे की व्यवस्था नहीं होना है। ऐसे में कई फैक्ट्री मालिकों ने उनको छुट्टियां दे दी हैं। अकेले सांगानेर एरिया में कपड़ा-टेक्सटाइल में जुटे करीब 2 लाख श्रमिकों में से करीब 80 प्रतिशत छुट्टी पर हैं। नतीजतन ज्यादातर इंडस्ट्रीज खुल तो रही है, लेकिन मशीनों के चक्के जाम हैं। यही हाल सबसे बड़े इंडस्ट्रीज वाले वीकेआई एरिया के हैं। जहां 8 नवंबर को नोटबंदी के बाद कुछ दिन तो मजदूरों का आना-जाना रहा। सांगानेर की एक कपड़ा फैक्ट्री में काम करने वाले सुरेश वर्मा ने कहा कि सेठजी ने छुट्टी कर रखी है। क्योंकि उनके पास आने वाला काम कम हो गया है। अब जितने दिन उनकी मर्जी से छुट्टी पर रहेंगे, उतने दिन की पगार भी नहीं। ऐसे में घर बैठे हैं। कैलाश के एक साथी घनश्याम ने कहा कि कुछ दिन तो मालिक ने लाइनों में कैश के लिए भेजा, एक दिन नंबर ही नहीं आया तो खीज उतारी।

व्यापारियों ने मांगी रियायतें मांगी

खास ख़बर Exclusive: सदियों पुरानी सोहराय को बचाने का बीड़ा उठाया महिलाओं ने See photos

यह भी पढ़े

Web Title-Note ban hitting 5 lakh workers, machines shut in factories of jaipur
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: note ban, hitting, 5 lakh, worker, machines, shut, factories, jaipur, rajasthan hindi news, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, breaking news of rajasthan, news of rajasthan, hindi news in rajasthan, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2017 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved