1 of 1

पर्यटन पर पड़ा नोटबंदी का बुरा असर, कम हुए पर्यटक

Note ban had affected tourism, reduced tourist in jodhpur - News in Hindi

जोधपुर। सूर्यनगरी में अक्टूबर से मार्च तक पर्यटकों का सीजन रहता है और शहर पर्यटकों से गुलजार रहता है। देश में हुई नोटबंदी का असर अब यहां भी दिखने लगा है। नोटबंदी के बाद जोधपुर घूमने आए विदेशी पर्यटकों के सामने संकट खड़ा हो गया है। पर्यटकों की जेब में1000 व 500 के नोट पर्याप्त संख्या में हैं, लेकिन अब ये चल नहीं रहे। ऐसे में पर्यटक नोट एक्सचेंज कराने के लिए बैंक पहुंच रहे हैं, वे बैंकों में लंबी लाइनों को देख घबरा रहे हैं। इस व्यवसाय से जुड़े गोविन्द सिंह का कहना है कि नोटबंदी बेहद अच्छा स्टेप है लेकिन, ये उन सैलानियों के लिए दिक्कत बन गया जिनकी जेब में पैसा होने के बावजूद वो उन्हें काम में नहीं ले सकते। ऐसे समय में पर्यटक भारत आने से पहले सोचेगा। जिन पर्यटकों ने बुकिंग कराई है, वर्तमान हालात में ये पर्यटक अपनी यात्रा रद्द कर सकते हैं। इस वजह से पर्यटन से जुड़े सभी कारोबार पर प्रभाव पड़ेगा। सिंह की मानें तो अब उनके गेस्ट पहले नोटबंदी के बारे में पूछ रहे है कि उन्हें किसी समस्या का सामना तो नहीं करना पड़ेगा। ऐसे में जितना हो रहा है हम उन्हें संतुष्ट कर रहे है लेकिन, इसका अर्थ ये नहीं हुआ कि वो हमारी बात को पूरा मान रहे हैं। जाहिर है इस बार टूरिज्म के कारोबार पर असर जरूर देखने को मिल रहा है।

1000 के नोट चलन से बाहर,जानिए कुछ ख़ास बातें

यह भी पढ़े

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:Note ban had affected tourism, reduced tourist in jodhpur
(News in Hindi खास खबर पर)
Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
स्थानीय ख़बरें
Advertisement
Advertisement

राजस्थान से

Advertisement

प्रमुख खबरे

आपका राज्य
Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

# बीकानेर - जिले की श्रीडूंगरगढ़ तहसील के सोनियासर की रोही स्थित एक झोपड़े में अचानक लगी आग # बीकानेर - लोगों ने अंदर सो रहे परिवार को बचाया, कुत्ता व तीन बकरियों की जलने से मौत, वृद्धा झुलसी # भरतपुर। इंडिका कार में लगी आग। पुलिस लाइन रोड पर एक चलती इंडिका कार में आग लग गयी। इस दुर्घटना में कोई जन हानि नहीं हुई लेकिन कार पूरी तरह से जल गई। # भरतपुर। अपनी मांगों को लेकर तहसीलदार, कानूनगो और पटवारी सहित सभी राजस्वकर्मी सामूहिक अवकाश पर, तहसील कार्यालय पड़ा सूना, नहीं हो रहा कामकाज, परिवादियों को हो रही परेशानी, कर्मचारियों ने तहसील कार्यालय पर किया प्रदर्शन व नारेबाजी। जिला कलक्ट्रेट का भू-अभिलेख कार्यालय भी सूना पड़ा रहा