1 of 1

दहेज ना देने पर दो बहनों पर अत्याचार

No dowry torture two sisters - News in Hindi

भिवानी। दहेज के लोभियों ने एक बार फिर पीएम मोदी के बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान को पलिता लगाया है। ताजा मामला सांकरोड़ गांव का है। जहां दो सगी बहनों को दहेज के लाखों रुपए की मांग पूरी नहीं होने पर मारपीट कर घर से निकाल दिया। फिलहाल बिना बाप की ये दोनों बहनें चौधरी बंशीलाल नागरिक अस्पताल में उपचाराधीन हैं और न्याय की मांग कर रही हैं। इनका आरोप सिर्फ इतना है कि इनकी विधवा मां ससुराल की ओर से मांगा गया दहेज नहीं दे पाई थी। आपको बता दें कि नौरंगाबाद निवासी इन दोनों बहनों प्रिती और आरती की शादी 3 दिसंबर 2014 को सांकरोड़ निवासी दीपक और प्रदीप के साथ हुई थी। पीड़ित बहनों और परिजनों की माने तो इनके ससुराल के लोग इन्हें शुरू से ही दहेज के लिए तंग किया करते थे और मांग पूरी नहीं होने पर मारपीट कर घर से निकाल दिया।

No dowry torture two sisters


खास खबर की चटपटी खबरें, अब Facebook पर पाने के लिए लाईक करें...
loading...
Advertisement
स्थानीय ख़बरें
Advertisement

हरियाणा से

सर्वाधिक पढ़ी गई

प्रमुख खबरे

Advertisement
Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

सर्वाधिक पढ़ी गई

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope