1 of 3

छलनी में से निहारा चांद, दर्शन कर खोला व्रत

जयपुर। पति की लंबी उम्र की कामना के लिए किए जाने वाला करवा चौथ व्रत को लेकर महिलाओं में खासा उत्साह रहा, शहर में रीति रिवाजों के साथ हर्षोल्लास से मनाया गया । इसके चलते बुधवार को दिनभर बाजार में विशेष चहल-पहल व रौनक देखी गई। रात के अंधेरे में जैसे ही चांद निकला तो महिलाओं ने पूजन-अर्चन कर उसे और अपने पति को निहारा। व्रत को लेकर महिलाएं सुबह से ही तैयारियों में जुटी रहीं, जिन महिलाओं ने पहला करवा चौथ व्रत रखाए उन्होंने अपने पिया को रिझाने के लिए शाम होते ही सजना-संवरना शुरू कर दिया और उस घड़ी का बड़ी बेसब्री से इंतजार करने लगीं, जब चांद और पिया के दीदार एक साथ होंगे। वहीं कुछ महिलाओं ने अपने पति के बाहर रहने के कारण उनकी फोटो रखकर तथा फोन पर बातें करके ही अपने व्रत को पूर्ण किया। कुछ स्थानों पर आधुनिक तकनिकी के माध्यम से वीडियो कॉलिंग व अन्य माध्यम से दूर होने के बावजूद पति को निहारा।




यहां सुहाग उजड़ने के भय से नहीं करती महिलाएं करवा चौथ का व्रत

क्यों काटा ब्रह्मा का 5वां सिर, जानें-शिव के 19 अवतार

यह भी पढ़े

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:Nihara sieve of the moon, opened philosophy vow
(News in Hindi खास खबर पर)
Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
स्थानीय ख़बरें
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

राजस्थान से

Advertisement

प्रमुख खबरे

आपका राज्य
Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

# बीकानेर - जिले की श्रीडूंगरगढ़ तहसील के सोनियासर की रोही स्थित एक झोपड़े में अचानक लगी आग # बीकानेर - लोगों ने अंदर सो रहे परिवार को बचाया, कुत्ता व तीन बकरियों की जलने से मौत, वृद्धा झुलसी # भरतपुर। इंडिका कार में लगी आग। पुलिस लाइन रोड पर एक चलती इंडिका कार में आग लग गयी। इस दुर्घटना में कोई जन हानि नहीं हुई लेकिन कार पूरी तरह से जल गई। # भरतपुर। अपनी मांगों को लेकर तहसीलदार, कानूनगो और पटवारी सहित सभी राजस्वकर्मी सामूहिक अवकाश पर, तहसील कार्यालय पड़ा सूना, नहीं हो रहा कामकाज, परिवादियों को हो रही परेशानी, कर्मचारियों ने तहसील कार्यालय पर किया प्रदर्शन व नारेबाजी। जिला कलक्ट्रेट का भू-अभिलेख कार्यालय भी सूना पड़ा रहा