1 of 4

नभ-थल के बाद INS अरिहंत जल से परमाणु हमले में होगा सक्षम

नई दिल्ली। भारत दुश्मनों के खिलाफ जवाबी परमाणु हमले करने की क्षमता में एक नायाब उपलब्धि हासिल करने वाला है। यह उपलब्धि है- न्यूक्लियर ट्रायड। अर्थात अरिहंत जमीन, हवा या समुद्र, कहीं से भी परमाणु मिसाइलें दागने में सक्षम होगा। भारत के पास जल्द ही हवा में एयरक्राफ्ट से, जमीन से इंटरकॉन्टिनेंटल बलिस्टिक मिसाइल्स के जरिए और पानी के नीचे सबमरीन से परमाणु मिसाइलें दागने की क्षमता होगी। भारत के पास जमीन से लंबी दूरी के लक्ष्यों को निशाना बनाने वाली अग्नि मिसाइलें काफी पहले से मौजूद थीं। इसके अलावा, न्यूक्लियर वॉरहेड ढो सकने में सक्षम फाइटर एयरक्राफ्ट्स भी थे। कमी केवल समुद्र से परमाणु हमले के मोर्चे पर थी।
सूत्रों ने सोमवार को बताया कि भारत की पहली स्वदेश निर्मित न्यूक्लियर पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत को इस साल अगस्त में नेवी की सेवा में शामिल कर लिया गया। 83 मेगावॉट क्षमता वाले लाइट वॉटर रिएक्टर से चलने वाली इस पनडुब्बी का ट्रायल दिसंबर 2014 से ही चल रहा था। आईएनएस अरिहंत में 750 किमी और 3500 किमी क्षमता वाली मिसाइलें हैं। अमेरिका, रूस और चीन के पास 5000 किमी से ज्यादा क्षमता वाली एसएलबीएम (सबमरीन से लॉन्च की जा सकने वाली बलिस्टिक मिसाइलों) की तुलना में ये कमतर हैं, लेकिन न्यूक्लियर ट्रायड एक ऐसी क्षमता थी, जिसे हासिल करना भारत के लिए बेहद अहम था।
और पढ़े...

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:INS Arihant would be able to nuclear assault
(News in Hindi खास खबर पर)
loading...
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement

Traffic

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope