• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 3

यहां दीपक की लौ के रूप में आकर स्थापित हुईं मां चामुंडा

जोधपुर। शक्ति रूपिणी मां चामुंडा दीपक की लौ के रूप में आकर जोधपुर के एक पहाड़ पर स्थापित हुई और उसके बाद रियासत के महाराजा ने यहां मंदिर बनवाया। कहते हैं राव चूंडा मां चामुंडा के भक्त थे और वो मां के दर्शन किए बगैर भोजन नहीं लेते थे। इस तरह मां की भक्ति पीढ़ी दर पीढ़ी चली और मंडोर रियासत के तत्कालीन महाराजा राव जोधा ने मेहरानगढ़ की स्थापना की। जानकर बताते हैं कि ये बात दन्तकथा मानी जाती है, लेकिन सच है कि राव जोधा भी मां के भक्त थे और मां को सच्चे मन से याद करते थे। जनश्रुति में कहा जाता है कि राव जोधा भी अपने पूर्वजों की तरह मां के दर्शन करने के बाद ही भोजन ग्रहण करते थे।

राव जोधा की भक्ति से प्रसन्न हुई मां

यह भी पढ़े

Web Title-here the flame of the lamp was installed as the mother Chamunda
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: flame, lamp, installed, mother, chamunda, jodhpur, rajasthan hindi news, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, jodhpur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2017 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved