1 of 1

दो दिवसीय संभाग स्तरीय कार्यशाला सम्पन्न

divisional level two day workshop held in bikaner - News in Hindi

बीकानेर। राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वावधान में जिला परिषद सभागार में आयोजित दो दिवसीय संभाग स्तरीय कार्यशाला संपन्न हुई। कार्यशाला की अध्यक्षता करते हुए जिला एवं सेशन न्यायाधीश राधामोहन चतुर्वेदी ने कहा कि विवाद के निस्तारण करने के लिए मुकदमेबाजी की तुलना में मध्यस्थता काफी बेहतर प्रक्रिया है। मध्यस्थता प्रक्रिया से विवाद का निस्तारण होने अर्थात समझौता हो जाने की स्थिति में प्रकरण में पुन: सुनवाई तथा पुनरीक्षण की आवश्यकता नहीं रहती तथा इस प्रकार प्रकरण का पूर्णतया निस्तारण हो जाता है। नोडल अधिकारी व एडीजे एक मधुसूदन राय ने राजीनामा योग्य प्रकरण चिन्ह्ति करने के लिए प्रेरित किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव राम अवतार सोनी, मास्टर ट्रेनर बालकिशन गोयल, नीरज कुमार भारद्वाज, श्रीमती प्रर्मिला आचार्य ने कार्यशाला के विषय की जानकारी दी।

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:divisional level two day workshop held in bikaner
(News in Hindi खास खबर पर)
Advertisement
loading...
Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
स्थानीय ख़बरें
Advertisement
Advertisement

राजस्थान से

सर्वाधिक पढ़ी गई

प्रमुख खबरे

Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

# भरतपुर। सांसद बहादुर कोली सडक़ दुर्घटना में हुए घायल। भरतपुर से दिल्ली जा रहे थे सांसद कोली। यमुना एक्सप्रेस वे पर हुई दुर्घटना। स्कॉर्पियो गाड़ी के टूटे शीशे। लोकसभा में भाग लेने जा रहे थे सांसद कोली। # झुंझुनूं। 13 हैड कांस्टेबलों को पदोन्नति पर चिह्न वितरित, एएसआई बनने पर एसपी एस.के. गुप्ता ने लगाए स्टार, वार्षिक परेड व क्यूआरटी टीम के डेमो का भी किया निरीक्षण, संपर्क सभा में जवानों ने एसपी के समक्ष रखी समस्याएं, इस साल अब तक 52 हैड कांस्टेबल बन चुके हंै एएसआई। # भरतपुर। भरतपुर के भाजपा कार्यकर्ताओं को मिली निराशा। 7 बोर्ड-निगमों में अध्यक्ष व 51 सदस्यों की नियुक्ति में भरतपुर जिले से एक भी कार्यकर्ता का नाम नहीं। नगर सुधार न्यास के अध्यक्ष पद पर भी अभी तक नियुक्ति नहीं होना चर्चा का विषय। भाजपा में गुटबाजी माना जा रहा कारण। आपसी खीचतान व चहेतों को पद दिलाने की मच रही होड़। कार्यकर्ताओं में दिखने लगी निराशा।