1 of 1

निजी हॉस्टल को दी जा रही है बिजली, प्रत्येक वर्ष 39 लाख की चपत

corruption in punjab university - News in Hindi

पटियाला। पंजाबी यूनिवर्सिटी के अधिकारी एक निजी हॉस्टल पर इस कदर मेहरबान हुए की उन्होंने यूनिवर्सिटी को मिलने वाली बिजली अवैध रुप से निजी हॉस्टल को दे रखी है। यह आरोप यूनिवर्सिटी के ही प्रोफेसर पुष्पिंदर गिल ने यूनिवर्सिटी प्रशासन पर लगाया है। प्रोफेसर का आरोप है कि यूनिवर्सिटी के क्षेत्र से ही निजी हॉस्टल को आवाजाही का रास्ता भी दिया गया है। इस सबंध में कई बार यूनिवर्सिटी के उच्च अधिकारियों को भी जानकारी दी गई है लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। गिल ने दावा किया की यूनिवर्सिटी के साथ लगते गांव शेखुपुरा में 500 गज का एक प्लाट है यहाँ पर एक निजी बॉयज हॉस्टल है। जिस का रास्ता नाजायज तौर पर यूनिवर्सिटी के अंदर ही निकलता है और इस को मिलने वाली बिजली सप्लाई पंजाबी यूनिवर्सिटी ही दे रही है जिसका सलाना खर्च 39 लाख रूपये के करीब बताया जा रहा है। जिसे यूनिवर्सिटी प्रशासन अदा कर रहा है। लेकिन शिकायत के बाद बिजली विभाग भी हरकत में आया और उसने हॉस्टल मालिक को नोटिस दे दिया। प्रोफ़ेसर गिल की शिकायत के बाद जब बिजली निगम के अधिकारी भी मोके पर पहुंचे तो गुरजंट सिंह (एक्सईन ) ने बताया की 25 किलोवाट के करीब यहाँ पर बिजली सप्लाई दी जा रही थी इसकी जाँच होगी।


corruption in punjab university


खास खबर की चटपटी खबरें, अब Facebook पर पाने के लिए लाईक करें...
loading...
Advertisement
स्थानीय ख़बरें
Advertisement

पंजाब से

सर्वाधिक पढ़ी गई

प्रमुख खबरे

Advertisement
Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

सर्वाधिक पढ़ी गई

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope