1 of 4

राजस्थानी भाषा को शीघ्र मिलेगी संवैधानिक मान्यता : मेघवाल

बीकानेर। केंद्रीय वित्त एवं कारपोरेट अफेयर्स राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा कि हम राजस्थानी भाषा की संवैधानिक मान्यता के बहुत नजदीक पहुंच गए हैं। वह दिन दूर नहीं है, जब राजस्थानी को यह सम्मान मिलेगा।

मेघवाल बुधवार को सादुलगंज स्थित रोटरी भवन में रोटरी क्लब की ओर आयोजित राज्य स्तरीय राजस्थानी भाषा पुरस्कार एवं सम्मान समारोह के शुभारंभ अवसर पर संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राजस्थान की संस्कृति, पूरी दुनिया की विशिष्टतम संस्कृतियों में से एक है, इसे जीवंत रखने के लिए राजस्थानी भाषा की मान्यता अत्यंत आवश्यक है। केन्द्र सरकार ने भाषायी आयोग द्वारा इस संबंध में अध्ययन करवाया है तथा इसकी रिपोर्ट के आधार पर राजस्थानी, भोजपुरी और भोटी को मान्यता का मार्ग प्रशस्त हो गया है। शीघ्र ही राजस्थानी को संविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल कर लिया जाएगा।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि केन्द्र सरकार के पास मान्यता के लिए प्राप्त प्रस्तावों में से तीन ऐसी भाषाएं थीं, जिन्हें दूसरे देशों ने मान्यता दी है। राजस्थानी भी इनमें से एक है। उन्होंने कहा कि नेपाल में राजस्थानी को मान्यता मिल चुकी है तथा अमेरिका के राष्ट्रपति सचिवालय ने भी इसे भाषा के रूप में मान्यता दी है। उन्होंने कहा कि राजस्थानी में साहित्य सृजन की परंपरा बहुत पुरानी है। यहां की बोलियां, मुहावरे और लोकोक्तियां इसकी मुख्य विशेषता हैं। उन्होंने रोटरी क्लब द्वारा राजस्थानी भाषा एवं साहित्य क्षेत्र में की गई नई शुरुआत को सराहनीय बताया।

बीकानेर में शुरू होंगे कई नए कार्य


यह भी पढ़े

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:Constitutional recognition will soon Rajasthani language: Meghwal
(News in Hindi खास खबर पर)
Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
स्थानीय ख़बरें
Advertisement
Advertisement

राजस्थान से

Advertisement

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

राष्ट्रीय खबर

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope