1 of 5

ऐसा क्या हुआ कि सचिन पायलट चौराहे पर बैठ बजाने लगे थाली

जयपुर। सोमवार को यहां कलक्ट्रेट सकिल पर आते-जाते लोग भौचक रह गए। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व केन्द्रीय मंत्री सचिन पायलट यहां चौराहे पर बैठ थाली बजा रहे थे। एकबारगी तो लोगों को कुछ समझ नहीं आया लेकिन, धीरे-धीरे सारा माजरा साफ हो गया। दरअसल, सचिन पायलट सहित कांग्रेस के बड़े नेता यहां मोदी सरकार की नोटबंदी के विरोध में महिला कांग्रेस के विरोध-प्रदर्शन में शामिल हुए थे। महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने सोमवार को कलक्ट्रेट पर एक दिवसीय धरना दिया। इस दौरान महिलाओं ने थालियां बजाकर विरोध प्रकट किया। इस मौके पर पायलट ने कहा कि नोटबंदी के बाद सबसे ’यादा असर महिलाओं पर पड़ा है। नोटबंदी से महिलाओं पर दुखों का पहाड टूट पड़ा है। नोटबंदी के 61 दिन पूरे होने के बाद भी लोगों को राहत नहीं मिल रही है। एटीएम के बाहर लाइनों में खड़े लोगों को रुपए नहीं मिल रहे हैं। वहीं किसानों को भी मुसीबत के दौर से गुजरना पड़ रहा है। उद्योगपतियों के हजारों करोड़ रुपए के कर्ज को माफ किया जा रहा है लेकिन, किसानों का कर्ज माफ करने पर सरकार ध्यान नहीं दे रही है। जिसकी वजह से किसान आत्महत्या कर रहे हंै। इस मौके पर पूर्व सांसद महेश जोशी, जिला शहर देहात कांग्रेस अध्यक्ष प्रतापसिंह खाचरियावास, प्रदेश प्रवक्ता अर्चना शर्मा सहित बड़ी संख्या में महिला कांग्रेस की कार्यकर्ता मौजूद थीं।

[@ Exclusive:10 साल से बेडिय़ों में जकड़ी है झुंझुनूं की जीवणी]

यह भी पढ़े

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:congress protest against note ban in jaipur
(News in Hindi खास खबर पर)
Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
स्थानीय ख़बरें
Advertisement
Advertisement
Advertisement

राजस्थान से

Advertisement

प्रमुख खबरे

आपका राज्य
Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

# सीकर - भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने रींगस इलाके के बावड़ी गांव में पटवारी कालूराम को 1500 रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा # चित्तौडग़ढ़ - शहर में दुर्ग मार्ग स्थित एक डेयरी केबिन में शनिवार सुबह आग लगने से केबिन में रखा सामान जला # चित्तौडग़ढ़ - करीब 80 हजार का हुआ नुकसान