1 of 1

नोटबंदी:संसद की कैंटीन में छुट्टे की किल्लत

cash crunch hits parliamentarians, no change available in canteen - News in Hindi

नई दिल्ली। ये है नोटबंदी का असर। अनेक सांसदों,आम लोगों की शिकायतों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद भवन को कैशलेस बनाने की पहल करने के लिए कहा है, और इसके बाद संसद भवन की कैंटीन और सेल काउंटर पर स्वाइप मशीन लगाने की तैयारी शुरू हो गई है।

बताते हैं कि लोकतंत्र के मंदिर में आने वाले कई आम लोगों को खाली पेट वापस जाना पड रहा है, क्योंकि कैंटीन में छुट्टे नोटों की दिक्कत है, और नोटबंदी के बाद ऎसे लोगों की तादाद काफी बढी है। लेकिन खाने-पीने के लिए छुट्टे पैसों और नकदी की दिक्कत सिर्फ आम लोगों को नहीं है।

कांग्रेस सांसद राज बब्बर ने बताया कि उन्हें अपने ड्राइवर से 100 रूपये उधार लेने पडे, ताकि वह संसद की कैंटीन में चाय पी सकें। यही हाल स्वागत कक्ष में बने बिक्री काउंटरों का है, जहां से लोग संसद की यादों से जुडी चीजें और किताबें खरीदते हैं। वहां भी प्लास्टिक मनी चलाने के लिए स्वाइप मशीन का इंतजाम नहीं है। इसके अलावा संसद भवन परिसर में लगे एटीएम में भी लंबी-लंबी लाइनें लग रही हैं।

अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नजर में यह बात आई है, और उन्होंने मंगलवार को बीजेपी संसदीय दल की बैठक में कहा कि कैशलेस भारत बनाने की शुरूआत संसद भवन से होनी चाहिए। सो, पीएम के इस बयान के बाद संसद भवन को कैशलेस बनाने की शुरूआत हो गई है, और बताया गया है कि कैंटीन और सेल काउंटर के लिए स्वाइप मशीन का ऑर्डर दे दिया गया है, ताकि वहां क्रेडिट और डेबिट कार्ड का इस्तेमाल हो सके।
खास ख़बर Exclusive: सदियों पुरानी सोहराय को बचाने का बीड़ा उठाया महिलाओं ने See photos

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:cash crunch hits parliamentarians, no change available in canteen
(News in Hindi खास खबर पर)
loading...
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement

Traffic

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope