1 of 2

सपा में सुलह की 8वीं कोशिश भी नाकाम! अखिलेश ने रखी चार शर्तें

लखनऊ। समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने विधानसभा चुनावों में सीएम पद पर दावेदारी स्वीकार करने के बाद मंगलवार को अखिलेश के साथ करीब पौने दो घंटे तक बैठक की। अखिलेश यादव आज सुबह मुलायम सिंह से मिलने उनके घर पहुंचे, लेकिन, इस बैठक के बाद भी मामला अटकता दिखा। सूत्रों के मुताबिक, मुलायम ने अखिलेश को एक बार फिर भरोसा दिलाया कि यूपी में सीएम का चेहरा वह ही होंगे। इसी के साथ उन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहने, चुनाव आयोग से से सिंबल की दावेदारी वापस लेने, रामगोपाल को पार्टी से बाहर करने जैसे मुद्दों को उठाया। इसी के साथ मुलायम ने यह भी साफ किया कि चुनावों का नेतृत्व भी वह ही करेंगे। दूसरी ओर, अखिलेश ने भी अमर सिंह को पार्टी से निकालने और चुनाव में खुद को पार्टी फेस के तौर पर प्रोजेक्ट करने पर जोर दिया।
बता दें कि इससे पहले दोनों गुटों के बीच 31 दिसंबर के बाद अब तक सुलह की सात कोशिशें हो चुकी हैं। लेकिन सभी नाकाम रही हैं। यह आठवीं कोशिश थी। इन मुद्दों पर नहीं बनी बात-
मुलायम ने अखिलेश के सामने उठाए ये 4 मुद्दे
1. राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर खुद बरकरार रहेंगे।
2. चुनाव आयोग से पार्टी चिह्न को लेकर दायर की गई दावेदारी अखिलेश वापस ले।
3. रामगोपाल को 6 साल के लिए पार्टी से बाहर किया जाएगा।
4. शिवपाल को यूपी प्रदेश अध्यक्ष बरकरार रखा जाएगा।
अखिलेश की शर्ते
1. राष्ट्रीय अध्यक्ष और इस बार चुनाव में सीएम फेस के तौर पर उन्हें प्रोजेक्ट करें।
2. रामगोपाल की पार्टी में वापसी हो।
3. अमर सिंह पार्टी से बाहर होंगे।
4. चुनाव तक नरेश उत्तम प्रदेश अध्यक्ष पद पर रहेंगे।
मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक, मीटिंग से बाहर आने के बाद अखिलेश ने कार्यकर्ताओं और प्रत्याशियों से अपनी विधानसभाओं में चुनाव प्रचार शुरू करने को कहा। अभी पार्टी या किसी नेता की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है इसलिए इस बैठक को पार्टी में चल रहे विवाद का अंत मान लेना या सुलह की कोशिशों पर विराम लगना मान लेना जल्दबाजी होगी।
मुलायम ने कहा था- अखिलेश ही होंगे अगले सीएम
समाजवादी पार्टी के साइकिल चुनाव चिह्न पर दावेदारी को लेकर मुलायम सिंह यादव सोमवार को चुनाव आयोग पहुंचे थे। इसके बाद रात को मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा था- ‘समाजवादी पार्टी एक ही है। चुनाव के बाद पार्टी में सत्ता में आई तो अगले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ही रहेंगे। इसमें कोई कन्फ्यूजन नहीं है। समाजवादी पार्टी ना टूटी है और ना टूटेगी।’ हैरानी भरा यह बयान ऐसे समय आया जब समाजवादी पार्टी के भीतर गुटीय जंग चरम पर पहुंच चुकी है।
इससे पहले मुलायम ने सोमवार सुबह कहा- ‘आप तो जानते हैं कि एक-दो लोग हैं, जिन्होंने हमारे लडक़े को बहका दिया है। मेरी अखिलेश से काफी बात हुई, सुबह बात हुई। अब जा रहा हूं। देखता हूं, क्या कहता है? हमारे बीच कोई विवाद नहीं है। यह मामला मेरे और मेरे बेटे के बीच है। एक शख्स है जो मतभेद लाने की कोशिश कर रहा है। मैं जाते ही ठीक कर दूंगा।’ इससे पहले मुलायम ने अखिलेश को सीएम पद का उम्मीदवार मानने से इनकार करते हुए कहा था कि नए विधायक अपना नेता खुद चुनेंगे।

[@ दुनिया की शीर्ष 5 तोपों में शामिल हुई ‘धनुष’, दमखम में बोफोर्स से भी आगे]

यह भी पढ़े

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:Mulayam-Akhilesh two hours behind closed doors, in a brief chat, sign of reconciliation
(News in Hindi खास खबर पर)
Advertisement
Khaskhabar UP Facebook Page:
Advertisement
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

Advertisement

प्रमुख खबरे

आपका राज्य
Advertisement

राष्ट्रीय खबर

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

# अलीगढ़- हथियारबंद बदमाशों ने बस में लूटपाट के बाद दो महिलाओं से किया दुष्कर्म # सपा का घोषणा पत्र जारी, अखिलेश ने साधा BJP, BSP पर निशाना # सपा-कांग्रेस के बीच गठबंधन पर अंतिम फैसला आज, गठबंधन लगभग तय # एटा स्कूल बस हादसे के बाद सकते में आए प्रशासन की कार्रवाई पर कई सवाल ??? # ढाई हजार एकड़ घोषित वन भूमि को बचाने की तैयारी में वन विभाग # मिर्जापुर में बनेगा विश्व रिकार्ड, बन रही 39 हजार 28 मीटर स्क्वॉयर में रंगोली # समाजवादी पार्टी ने मुसलमानों के लिए कितना काम किया? पढ़िए पूरी ख़बर # सुल्तानपुर सांसद वरुण गांधी बीजेपी के स्टार प्रचारकों की सूची से बाहर # वाराणसी- 20 लापरवाह स्कूल बसों पर कार्रवाई, एक वाहन सीज