• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
  • Results
Advertisement
Advertisement
1 of 2

तीखी मिर्च के बाद अब यहां के खेतों से मिलेगी पपीते की मिठास

जोधपुर। जिले के बिराई गांव की तीखी मिर्च खेतों से विदा हो गई और इन खेतों में ताइवानी पपीते की खेती हो रही है। यहां भूमिगत जल स्तर के गिर जाने के बाद किसान कम पानी में ज्यादा उत्पादन देने वाले पपीते की खेती को बढ़ावा दे रहे हंै। कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार पपीते की सबसे अच्छी किस्म ‘ताइवान रेड लेडी’ या ‘ताइवानी पपीता’ की खेती जिले में शुरू होने जा रही है। ताइवानी पपीते की खेती सभी तरह की मिट्टी के लिए उपयुक्त है। किसान गोपीकिशन पंचारिया के अनुसार पपीते के पौधे सात महीने मे फल देने लगते हैं। यहां भूमिगत जलस्तर भी काफी गिरा है। ऐसे में अब यहां ड्रिप सिस्टम से ताइवानी पपीते की खेती शुरू की जा रही है। पेशे से कम्प्यूटर लैग्वेज के स्पेशलिस्ट जयप्रकाश पंचारिया बताते हैं कि अब उनका रुझान शहर से गांव की ओर बढ़ गया है और वैज्ञानिक तरीके से बहुत कम पानी में पपीते की खेती करने जा रहे हैं। पंचारिया ने ढाई हजार पौधे लगाए हैं जो, बहुत कम समय में फलोत्पादन शुरू करेंगे।

पपीता की खेती की खासियत

[@ वर्ष 2016: उरी में सेना के कैम्प पर आतंकी हमला, भारत का जवाब सर्जिकल स्ट्राइक]

Web Title-After hot chili papaya sweetness in the fields of Jodhpur
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
Advertisement
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य
Advertisement

Traffic

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Advertisement
Copyright © 2017 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved