• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

धनकुबेरों ने पीएम के नोटबंदी की निकाली काट, हथियार बना पार्टी फंड का एकाउंट

कानपुर। प्रधानमंत्री के बड़े नोटबंदी के फैसले की काट धनकुबेरों ने निकालना शुरू कर दिया। ब्लैक मनी को व्हाइट करने के लिए राजनीतिक पार्टियों को हथियार बना रहे हैं। जिसका खुलासा एक पार्टी के अध्यक्ष ने थाने में कोषाध्यक्ष के खिलाफ तहरीर देकर खुद की है। आठ नवम्बर मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देर शाम कालाधन पर अंकुश लगाने के लिए पांच सौ व एक हजार के नोटों को चलन से बाहर कर दिया।
जिससे धनकुबेरों की नींद उड़ गई और ज्यों ही गुरूवार से करेंसी एक्सचेंज होने लगा तो दिहाड़ी मजदूरों को बैंकों पर लाइन में लगा दिया। बैंकों में स्याही लगाने के बाद लगातार बदल रही नीतियों को देख अब धनकुबेर राजनीतिक पार्टियों को हथियार बनाना शुरू कर दिया। लगभग एक सप्ताह से शहर में चर्चा चल रही है कि धनकुबेर बैंक मैनेजरों व राजनीतिक पार्टियों से साठ-गाठ कर कालेधन को सफेद कर रहें है।
लेकिन यह चर्चा उस समय सही साबित हुई जब लखनऊ निवासी जनराज्य पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरूणेश सिंह ने नौबस्ता थाना में अपने ही पार्टी के कोषाध्यक्ष रविशंकर सिंह पर ऐसा आरोप लगा तहरीर दी। सुनवाई न होने पर कोर्ट के माध्यम से मामला दर्ज कराया। हालांकि पार्टी अध्यक्ष ने यह खुलासा नहीं किया कि कितना रूपया जमा व निकाला गया लेकिन यह जरूर बताया कि करोड़ों का खेल किया गया है।
मामले के विवेचना अधिकारी नरेश कुमार सिंह के मुताबिक जनपा के फर्जी खाता खोलकर करोड़ों रुपये की हेराफेरी की बात सामने आई है। साक्ष्यों के आधार पर आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी।
सौ घंटे काम करो, नौ हजार रुपए लो

यह भी पढ़े

Web Title-account of party fund made loophole of note ban
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: kanpur, note ban, note exchange, black money, pm modi, loophole, loophole of note ban, party fund, account of party fund made loophole of note ban, account of party fund, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, kanpur news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2017 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved