1 of 4

नोटबंदी के खिलाफ आक्रोश रैलियां, केरल-त्रिपुरा में बंद का आंशिक प्रभाव

नई दिल्ली। नोटबंदी के खिलाफ विपक्षी पार्टियों द्वारा बुलाए गए भारत बंद का सोमवार को देश में आंशिक असर देखने को मिला। वाम शासित केरल और त्रिपुरा में बंद का सर्वाधिक असर रहा जबकि नोटबंदी की प्रबल विरोधी ममता बनर्जी के राज्य पश्चिम बंगाल में इसका असर कम ही रहा।

तेलंगाना, आंध्र प्रदेश में भी बंद का मिला-जुला असर रहा जबकि तमिलनाडु में विरोध-प्रदर्शन करने वाले विपक्षी पार्टी के कुछ नेताओं को गिरफ्तार भी किया गया। बंद से सर्वाधिक प्रभावित त्रिपुरा में पुलिस ने सरकारी कार्यालयों और रेलवे स्टेशनों के सामने धरना दे रहे वाम दलों के 1,500 से अधिक कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया। त्रिपुरा में बंद के कारण सरकारी और अर्ध सरकारी और साथ ही निजी कार्यालय, बैंक, शैक्षिक संस्थान, दुकान और व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहे। परिवहन भी लगभग ठप रहा, हालांकि अगरतला में विमानों की आवाजाही पर कोई असर नहीं पडा। लेकिन, बंद के कारण त्रिपुरा और देश के शेष भागों के बीच रेल सेवाओं पर भी असर पडा, क्योंकि वाम दलों के कार्यकर्ताओं ने राज्य के विभिन्न स्थानों पर कई रेलगाडियां रोक दीं। त्रिपुरा वाम मोर्चा संयोजक और लोकसभा के पूर्व सदस्य खगेन दास ने कहा,बंद पूर्ण और सफल रहा।


खास खबर Exclusive : लुटेरे की इस गैंग के शातिर तरीके से अफसर भी खा गए धोखा
और पढ़े...

खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
Web Title:aakrosh rallies against demonetisation, bandh in tripura,kerala not effective
(News in Hindi खास खबर पर)
loading...
Advertisement
Khaskhabar.com Facebook Page:
Advertisement

Traffic

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope