• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 5

गुरू चाण्डाल योग

बृहस्पति और राहु जब साथ होते हैं तो गुरू चाण्डाल योग बनता है। चाण्डाल का अर्थ निम्नतर जाति है। चाण्डाल का कार्य श्मशान भूमि के आसपास ही सीमित रखा गया था। कहा गया कि चाण्डाल की छाया भी ब्राrाण को या गुरू को अशुद्ध कर देती है। मैंने शनि और राहु की प्रतिनिधि जनता के बारे में जब सर्वेक्षण करना शुरू किया तो निम जातियों या मजदूर या श्रमिक वर्ग या कई मामलों में कृषक वर्ग से शनि का सम्बन्ध जो़डा जा सकता है परन्तु राहु का सम्बन्ध अन्त्यज जातियों से है। पुराना इतिहास डालिए एक नजर ,NEXT स्लाइड्स पर क्लिक कर ....


[# अपने राज्य / शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे]

यह भी पढ़े

Web Title-astrology guru chandal yog
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: guru chandal yog, relationship of teacher, astrology, astrology article
Khaskhabar UP Facebook Page:

जीवन मंत्र

स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved