• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
  • Results
1 of 1

शहर में निकाली गई मुर्दे की सवारी, 200 वर्षों से चली आ रही है परंपरा

Murder rushed out of the city, tradition has been running for 200 years - Bhilwara News in Hindi

भीलवाड़ा। 200 वर्षों से चलीरही परंपरा के तहत होली के 7 दिन बाद शीतला सप्तमी के अवसर पर शहर में मुर्दें की सवारी निकाली गई। जिसमें एक व्यक्ति को अर्थी पर लेटाकर उसे कंधों पर उठाकर शवयात्रा निकाली गई। शव यात्रा शहर के मुख्य मार्गों से होती हुई बड़े मन्दिर के पास पहुंचती है, जहां अर्थी को जला दिया जाता है। मुर्दे की सवारी को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा पुख्ता इंतजाम किए और ड्रॉन से वीडियोग्राफी कराई। मनोरंजन के उद्देश्य से निकाली जाने वाली इस नकली शवयात्रा में जिंदा व्यक्ति को सनेती अर्थी पर लेटाया जाता है और कुछ लोग उसे कंधों पर उठाकर चलते हैं। बाकी लोग हंसते गाते व गालियां देते हुए अबीर-गुलाल उड़ाते हुए चलते हैं। उसके उपरान्त अर्थी जैसे ही यथास्थान पहुंचती है तो उस पर लेटा व्यक्ति कूदकर भाग जाता है और लोग खाली अर्थी का अन्तिम संस्कार कर देते हैं।

अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

Web Title-Murder rushed out of the city, tradition has been running for 200 years
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Advertisement
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
Advertisement
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Advertisement
Copyright © 2017 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved