• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
  • Results
1 of 2

जलियांवाला बाग हत्याकांड ने भगत सिंह के मन पर छोडी गहरी छाप

सरदार भगत सिंह ने देश की आजादी के लिए जिस साहस के साथ शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार का मुकाबला किया, वह आज के युवकों के लिए एक बहुत बड़ा आदर्श है। भगत सिंह का जन्म 28 सितंबर 1907 को लायलपुर जिले के बंगा में हुआ था, जो अब पाकिस्तान में है। उनके पिता का नाम सरदार किशन सिंह और माता का नाम विद्यावती कौर था।

परिवार पर आर्य समाज व महर्षि दयानंद की विचारधारा का गहरा प्रभाव था। संयोग से भगत सिंह के जन्म दिन पर पिता और दोनों चाचा जेल से छूटे थे। उनकी दादी ने उनका नाम भागो वाला रखा था, जिसका मतलब होता है अच्छे भाग्य वाला। बाद में उन्हें भगत सिंह कहा जाने लगा। वे जब 14 साल के थे तो पंजाब की क्रांतिकारी संस्थाओं में कार्य करने लगे थे। 13 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग हत्याकांड ने भगत सिंह के मन पर गहरी छाप छोड़ी। लाहौर के नेशनल कॉलेज की पढ़ाई छोडक़र भगत सिंह ने नौजवान भारत सभा की स्थापना की थी।

काकोरी कांड में राम प्रसाद बिस्मिल सहित चार क्रांतिकारियों को फांसी व 16 अन्य को जेल की सजा ने भगत सिंह को हिलाकर रख दिया। इसके बाद वे पंडित चन्द्रशेखर आजाद के साथ उनकी पार्टी हिन्दुस्तान रिपब्लिकन ऐसोसिएशन से जुड गए। भगत सिंह ने राजगुरु के साथ मिलकर 17 दिसंबर 1928 को लाहौर में सहायक पुलिस अधीक्षक रहे अंग्रेज अधिकारी जेपी सांडर्स को मार डाला।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Independence Day Special : know important facts about Sardar Bhagat Singh
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: independence day special, important facts, sardar bhagat singh, jaliawala bagh hatyakand case, chandrshekhar azad, lala lajpat rai, freedom fighter, 70th independence day, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, independence day 2017
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2017 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved