• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
  • Results
1 of 2

मुस्लिमों में बेचैनी... बीजेपी और शिवसेना के निशाने पर आए अंसारी

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के मुस्लिमों में बेचैनी और असुरक्षा की भावना वाले बयान की चहूं ओर आलोचना हो रही है। देश के नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने देश में अल्पसंख्यकों के बीच असुरक्षा की भावना होने की बात को महज राजनीतिक प्रचार बताकर खारिज कर दिया। वहीं, अंसारी के बयान पर शिवसेना ने कड़े तेवर दिखाते हुए कहा कि यदि ऐसा था तो उन्होंने पहले पद से इस्तीफा क्यों नहीं दिया। बीजेपी ने भी अंसारी के बयान की कड़ी निंदा की है। नायडू ने गुरुवार को कहा, कुछ लोग कह रहे हैं कि अल्पसंख्यक असुरक्षित हैं। यह एक राजनीतिक प्रचार है। पूरी दुनिया के मुकाबले अल्पसंख्यक भारत में ज्यादा सकुशल और सुरक्षित हैं और उन्हें उनका हक मिलता है। उन्होंने इस बात से भी इत्तेफाक नहीं जताया कि देश में असहिष्णुता बढ़ रही है और कहा कि भारतीय समाज अपने लोगों और सभ्यता की वजह से दुनिया में सबसे सहिष्णु है।

उन्होंने कहा कि यहां सहिष्णुता है और यही वजह है कि लोकतंत्र यहां इतना सफल है। पूर्व बीजेपी अध्यक्ष ने एक समुदाय को अलग दिखाकर देश में लोगों को बांटने की कोशिश के प्रति आगाह करते हुये कहा कि इससे दूसरे समुदायों से विपरीत प्रतिक्रिया आएगी। अगर आप एक समुदाय को अलग करके देखेंगे तो दूसरे समुदाय इसे अन्यथा लेंगे। इसलिए हम कहते हैं कि सभी समान हैं। किसी का तुष्टीकरण नहीं, सभी के लिए न्याय। उन्होंने कहा कि इतिहास में इस बात का प्रमाण है कि अल्पसंख्यकों के खिलाफ कोई भेदभाव नहीं हुआ। उन्होंने कहा, उन्हें (अल्पसंख्यकों को) संवैधानिक जिम्मेदारियों समेत अहम पद हासिल हुए हैं क्योंकि यहां कोई भेदभाव नहीं है, और ऐसा उनकी योग्यता के कारण संभव हुआ।

उन्होंने कहा कि भारत की विशिष्टता, विविधता में एकता और सर्वधर्म सद्भाव है। भारत के खून में धर्मनिरपेक्षता है। उन्होंने कहा, भारत अपने राजनेताओं की वजह से नहीं बल्कि अपने लोगों और सभ्यता की वजह से धर्मनिरपेक्ष है। कथित असहिष्णुता की घटनाओं के बारे में पूछे जाने पर नायडू ने कहा कि भारत एक विशाल देश है और इक्का-दुक्का मामले सामने आ सकते हैं जो कुछ और नहीं अपवाद हैं। उन्होंने हालांकि कहा, समुदाय के आधार पर कोई भी साथी नागरिकों पर हमले को न्यायोचित नहीं ठहरा सकता। ऐसी घटनाओं की निंदा होनी चाहिए और संबद्ध अधिकारियों द्वारा कार्रवाई की जानी चाहिए। नायडू ने कहा कि कुछ लोग राजनीतिक वजहों से ऐसे मामलों को तिल का ताड़ बना देते हैं।

बीजेपी ने साधा अंसारी पर निशाना

उधर बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय ने भी अंसारी पर निशाना साधते हुए कहा कि उपराष्ट्रपति जैसे पद पर बैठे शख्स से ऐसी टिप्पणी की उम्मीद नहीं थी। बीजेपी महासचिव विजयवर्गीय ने कहा कि अंसारी रिटायरमेंट के बाद पॉलिटिकल शेल्टर की तलाश में हैं। उन्होंने कहा, मैं अंसारी के बयान की निंदा करता हूं। चूंकि वह रिटायर हो रहे हैं, इसलिए उन्होंने राजनीतिक बयानबाजी की है। वह अभी भी उपराष्ट्रपति हैं और इस तरह के बयान उनको शोभा नहीं देता है। ऐसा लगता है कि वह रिटायरमेंट के बाद पॉलिटिकल शेल्टर पाना चाहते हैं।

अंसारी के बयान पर शिवसेना के कड़े तेवर

केंद्र सरकार में शामिल शिव सेना के सांसद संजय राउत ने कहा कि यदि अंसारी को मुस्लिमों में बेचैनी और असुरक्षा की भावना नजर आयी है तो इसको लेकर उन्होंने पहले ही उपराष्ट्रपति पद से इस्तीफा क्यों नहीं दे दिया। जब उनका इस पद से कार्यकाल खत्म हो रहा है तब इस तरीके के बयान दे रहे हैं। उन्हें पहले ही इस्तीफा देकर जनता के बीच जाना चाहिये था। उनका कथन मुसलमानों की अन्तरआत्मा की आवाज नहीं है।

जाते-जाते ऐसा बयान दे गए अंसारी, हो रही आलोचना

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-elected Vice President Venkaiah Naidu, bjp, shiv sena leaders slams hamid ansari statement
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: elected vice president, venkaiah naidu, bjp, shiv sena, hamid ansari statement, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2017 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved