• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
  • Results
1 of 2

एनडीए के राष्ट्रपति कैंडिडेट रामनाथ कोविंद का कानपुर से क्या है नाता, जानें यहां ?

हिमांशु तिवारी, कानपुर। देश की कमान तो कई बार उत्तर प्रदेश संभाल चुका है और वर्तमान में भी यूपी से सांसद चुने गए नरेन्द्र मोदी देश का नेतृत्व कर रहे हैं, लेकिन देश के प्रथम नागरिक यानी राष्ट्रपति पद से उत्तर प्रदेश सदैव अछूता रहा, जिसकी भरपाई भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के एेलान से हो गई और उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर के रहने वाले व बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद के देश के अगले राष्ट्रपति बनने का रास्ता साफ हो गया। हालांकि अभी चुनाव बाकी है, फिर भी संख्या के लिहाज से एनडीए उम्मीदवार कोविंद बहुत आगे हैं।

देश की आजादी के लिए क्रांतिकारियों से लेकर कांग्रेस व साम्यवादियों ने कानपुर को रणनीतिक केन्द्र बनाया और कानपुरवासियों ने उसमें बढ़-चढ़ कर भाग लिया, लेकिन आजादी के बाद से कानपुर का नाम धीमा होता चला गया। लेकिन भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता डा. मुरली मनोहर जोशी के शहर से सांसद बनने व केन्द्र में मंत्री न बनने के बाद से कानपुरवासी यह कयास लगा रहे थे कि अगला राष्ट्रपति शहर से होगा, जिससे शहर का नाम रोशन होगा।

शहरवासियों का यह कयास काफी हद तक उस समय सच साबित हुआ, जब सोमवार को दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राष्ट्रपति उम्मीदवार की घोषणा कर दी। यह अलग बात है कि सांसद जोशी के बजाय मूलरूप से कानपुर के रहने वाले व बिहार राज्यपाल रामनाथ कोविंद के नाम पर मोहर लगी। शाह के ऐलान के बाद शहरवासियों में गजब का उत्साह देखा गया। कोविंद के करीबी बीएनएसडी शिक्षा निकेतन के प्रधानाचार्य डा. अंगद ने बताया कि कानपुरवासियों के लिए गर्व की बात है कि अपने शहर का व्यक्ति देश का प्रथम नागरिक बनने जा रहा है। महापौर कैप्टन जगतवीर सिंह द्रौण ने कहा कि हमें तो बहुत खुशी है कि उत्तर प्रदेश से पहले राष्ट्रपति अपने शहर से होने जा रहे हैं। अपनी यादों को ताजा करते हुए बताया कि 1991 के चुनाव में हम दोनों ने क्रमशः कानपुर नगर व घाटमपुर से लोकसभा का चुनाव लड़ा, लेकिन कोविंद जी चुनाव हार गए और मैं कानपुर नगर से चुनाव जीत गया। इससे मुझे बहुत दुख हुआ और मैं उनके घर गया, तो मुरझाया चेहरा देख कोविंद जी ने कहा कि यह क्या है, चुनाव सेवा के उद्देश्य से लड़ा जाता है। नहीं जीता तो क्या सेवाभाव खत्म हो गया।

कानपुर से दूसरे राष्ट्रपति उम्मीदवार

रामनाथ कोविंद के पहले केन्द्र की अटल बिहारी सरकार के दौरान 2002 के राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार डा. एपीजे अब्दुल कलाम के खिलाफ कानपुर की लक्ष्मी सहगल ने चुनाव लड़ा था, लेकिन वामपंथियों सहित कुछ ही पार्टियों का उनको समर्थन मिला, जिससे वे भारी अंतर से चुनाव हार गईं। अब कोविंद कानपुर से दूसरे राष्ट्रपति उम्मीदवार बने हैं और एनडीए की संख्या के आधार पर उनकी जीत भी तय है।


ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-NDA President Candidate Ramnath Kovind is from Kanpur
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: nda, president candidate, ramnath kovind, kanpur, ramnathkovind, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, kanpur news, kanpur news in hindi, real time kanpur city news, real time news, kanpur news khas khabar, kanpur news in hindi
Khaskhabar UP Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

उत्तर प्रदेश से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2017 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved