• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

शिशुओं की मौत पर यह क्या बोल गए स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सराफ

What is this saying on the death of infants, Health Minister, Kalicharan Saraf - Jaipur News in Hindi

जयपुर । राजस्थान में प्रतिवर्ष शिशुओं की मौत होना बिल्कुल नहीं रोका जा सकता है, हां यह जरूर है कि अभी एक हजार बच्चों में से 41 नवजात बच्चों की मौत प्रतिवर्ष होती है, लेकिन वर्ष 2022 तक नवजात बच्चों की मौत का आंकड़ा 28 तक प्रतिवर्ष तक पहुंच जाएगा। यह कहना है कि प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री कालीचरण सराफ का। अपने विभाग की चार साल की उपलब्धियां गिनाने के बाद उन्होंने नवजात बच्चों की मौत के सवालों पर कहा है कि यह सही है कि संसाधनों की कमी के चलते नवजात बच्चों की मौत हुई है और दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जा रही है।
उन्होंने बताया कि राजस्थान में शिशु मृत्युदर एसआरएस 2012 की रिपोर्ट के अनुसार 49 थी, जबकि वर्ष 2013 में शिशु मृत्यदर 47 थी, लेकिन अब स्वास्थ्य विभाग ने सुधार करते हुए यह आंकड़ा 41 तक पहुंचा दिया है। लेकिन चिकित्सा मंत्री ने यह साफ किया है कि एकदम से बच्चों की मौत का आंकड़ा खत्म नहीं किया जा सकता है। आपको बता दे कि राजस्थान में 32 हजार नवजात बच्चों की मौत के आंकड़ों की बात राज्य सरकार ने राजस्थान हाईकोर्ट में स्वीकार की है। इस बारे में पूछे गए सवालों पर स्वास्थ्य मंत्री ने कोई भी संतोष जनक जवाब नहीं दिया।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-What is this saying on the death of infants, Health Minister, Kalicharan Saraf
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: medical and health minister kalicharan saraf, rajatshan news, rajasthan hindi news, jaipur hindi news, jaipur news, child death in rajasthan, राजस्थान में नवजात बच्चों की मौत, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2017 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved