• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

संकट में लोगों की जान बचाएगा यह एप, 5 सैकंड में 5 लोगों तक भेजेगा आपकी सूचना

jaipur news : This app will save people lives, will send your information to 5 people in 5 seconds - Jaipur News in Hindi

सुधीर कुमार शर्मा

जयपुर। अगर राह चलते समय अचानक कोई संकट आ जाए, तो क्या करेंगे? सबसे पहले परिचितों को सूचना देने का प्रयास करेंगे। यदि अपहरण, छेड़छाड़ या अन्य मुसीबत का अचानक सामना हो जाए और फोन करने का मौका भी नहीं मिले या फिर एक्सीडेंट का मामला हो जाए, तो घबराएं नहीं। ऐसी गंभीर स्थिति में आपकी मदद करेगा ‘मेरा पेशेंट एप’। यह एप हमेशा आपकी लोकेशन आपसे जुड़े पांच करीबी लोगों तक शेयर करेगा। अगर आपका फोन साइलेंट मोड पर है तो करीबी पांच लोगों तक सिर्फ 5 सैकंड में अलार्म के साथ आपकी गूगल लोकेशन पहुंचा देगा। अगर आपका फोन स्विच ऑफ है तो ऑन करने ही आपकी लोकेशन भेज देगा। अगर मोबाइलों में इंटरनेट भी नहीं होगा तो एसएमएस के जरिये जीपीएस लोकेशन भेज देगा।

एक्सीडेंट की मौतों में ला सकता है कमी

यह एक यूनीक फीचर है, जो पैनिक होने पर एक साथ ऐसे फीचर लेकर आया है। इस एप के जरिये देशभर में होने वाले एक्सीडेंट केसों में हो रही मौतों की संख्या में कमी लाई जा सकेगी। एक्सीडेंट के बाद समय पर रेस्क्यू मिल जाए तो 70 फीसदी मौतों में कमी लाई जा सकती है। यदि कोई व्यक्ति इस तकनीक से तैयार मॉडल का उपयोग अपने मोबाइल में करता है, तो वह न केवल खुद को मुसीबत से निकालने में सक्षम हो सकता है, बल्कि औरों की जान भी बचा सकता है।

ये हैं खास बातें

मेरा पेशेंट एप प्ले स्टोर से फ्री डाउनलोड किया जा सकता है। इसमें एक पैनिक बटन के माध्यम से रजिस्ट्रेशन के दौरान आप पांच करीबी लोगों को एड कर दें। जब उनके द्वारा आपकी रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली जाएगी तब आप बटन स्लाइड करें। एक साथ पांचों के पास बजर बजेगा, गूगल लोकेशन पहुंचेगी। वास्तविक पैनिक की स्थिति में महज 10 से 12 सैकंड में आप एप पर टैब कर बटन स्लाइड कर सकते हैं और सभी को अपनी लोकेशन और सूचना भेज सकते हैं।

तो बचाई जा सकती थी कुछ ऐसे केस में लोगों की जान

केस स्टडी के अनुसार 10 नवंबर को ही झालावाड़ निवासी विनीत जैन अपने तीन साथियों अक्षय, प्रणव और अभिषेक के साथ नाहरगढ़ घुमने आया था। अलसुबह पहाड़ी पर जाने के दौरान अचानक विनीत की कार बेकाबू हो गई। कार पहाड़ी से करीब तीस फीट नीचे जा गिरी। इस हादसे में विनीत की मौत हो गई, जबकि उसके तीन साथी घायल हो गए। ऐसे हालात में यह एप उनके लिए मददगार साबित होता, जबकि घायलों के काफी देर तक शोर मचाने के बाद राहगीरों की उन पर नजर पड़ी तब जाकर उन्हें निकाला जा सका, लेकिन विनीत को बचाया नहीं जा सका। समय रहते हादसे की जानकारी मिलने की स्थिति में शायद विनीत को बचा लिया जाता। इसी तरह करीब 6 माह पूर्व जयपुर के ही न्यू सांगानेर रोड पर दो दोस्तों का रात करीब 12 बजे एक्सीडेंट हुआ। वे काफी देर तक घायल पड़े रहे, लेकिन घरवालों को सूचना नहीं पहुंच पाई। जब तक सूचना पहुंची उन्हें अस्पताल पहुंचा दिया गया, लेकिन तब तक उनमें से एक की मौत हो गई। यदि ये एप होता, तो शायद उनके करीबी पांच लोगों में से कोई टाइम पर पहुंच जाता और जान बच जाती।

दवा विक्रेता या डायग्नोस्टिक लैब तक पहुंचाएगा

अब कोई भी व्यक्ति अपने-अपने पास के दवा विक्रेता से ऑनलाइन दवा पा सकता है। साथ ही किसी भी प्रकार की जांच भी पांच किलोमीटर के दायरे के डायग्नोस्टिक लैब से करा सकता है। एप केवल यूजर को दोनों से मिलाता है। जो भी दवा की बिक्री होगी या जांचें होंगी यह केवल यूजर और दवा विक्रेता या डायग्नोस्टिक लैब के बीच की शर्तों पर होंगी। एप की ओर से कोई भी शर्तें नहीं लगाई गई हैं।

इससे ये होंगे फायदे

इस मॉडल में दवा का वितरण यूजर को कुरियर-हॉकर नहीं कर रहा, बल्कि एक फार्मासिस्ट कर रहा है, जो कानूनी रूप से जरूरी है। कानूनन कोई भी दवा यूजर को फार्मासिस्ट के द्वारा ही दी जा सकती है। एग्रीगेटर मॉड्यूल के कारण पेशेंट तथा दवा विक्रेता अथवा डायग्नोस्टिक लैब से सीधा जुड़ जाएगा, इससे बाजार का मौजूदा स्वरूप बचा रहेगा। इस एप का उपयोग करने के लिए प्रिस्क्रप्शन, बिल तथा भुगतान तीनों ही ऑनलाइन होंगे, जिससे पेपर बचेगा, पारदर्शिता रहेगी, आने-जाने की लागत एवं समय की बचत होगी। सड़कों पर दबाव कम होगा, ईंधन की बचत होगी, पर्यावरण प्रदूषण कम होगा। इसके इस्तेमाल से कैशलेस इकॉनोमी को बढ़ावा मिलेगा। इस एप के माध्यम से पेशेंट का पूरा रिकॉर्ड हमेशा के लिए सुरक्षित हो जाएगा। आपातस्थिति में भी वह हर स्थान पर एक क्लिक में अपना मेडिकल रिकॉर्ड काम में ले सकेगा।

इस तरह कर सकते हैं एप डाउनलोड

जयपुर निवासी मनीष मेहता और आलोक खंडेलवाल ने यह नया एप डवलप किया है। फ्री एप्लीकेशन डाउनलोड करने के साथ ही यूजर, डाइग्नोस्टिक लैब संचालक और मेडिकल स्टोर संचालक अलग-अलग तरह से रजिस्टर कर सकते हैं। लैब और कैमिस्ट के ऑप्शन पर जाकर अपनी पूरी डिटेल भर सकते हैं।



ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-jaipur news : This app will save people lives, will send your information to 5 people in 5 seconds
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: jaipur news, app will save people lives, send your information to 5 people, mera patient app, gps location with sms, google play stor, jaipur hindi news, rajasthan hindi news, sudhir kumar sharma, सुधीर कुमार शर्मा, जयपुर समाचार, राजस्थान समाचार, मेरा पेशेंट एप, gadget news, latest gadgets updates, latest gadgets news in hindi, latest gadgets reviews in hindi, jaipur news, jaipur news in hindi, real time jaipur city news, real time news, jaipur news khas khabar, jaipur news in hindi
Khaskhabar Rajasthan Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

राजस्थान से

गैजेट्स

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2017 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved