• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 1

स्वास्थ्य विभाग का विजन दस्तावेज़ पेश, 240 वेल्लनेस सेंटर खोले जाएंगे

Presenting Vision Document of punjab Health Department  240 Valenas center soon - Punjab-Chandigarh News in Hindi

चंडीगढ़। पंजाब के स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्री श्री ब्रह्म महिन्द्रा द्वारा आज कांग्रेस सरकार की 10 महीनो की प्रशंसनीय प्राप्तियों का विस्तृत विवरण पेश किया गया। इस के साथ ही स्वास्थ्य विभाग की आगामी योजनाओं का नक्षा (विजन दस्तावेज़) भी पेश किया गया।

यहाँ प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान विस्तृत जानकारी देते स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पंजाब सरकार राज्य निवासियों को मानक स्वास्थ्य सेवाओं मुहैया करवाने के लिए वचनबद्ध है और इस मंतव्य की पूर्ति के लिए राज्य भर में क्रमवार 2950 वैल्लनैस सैंटर खोलने का लक्ष्य निश्चित किया गया है। इस के अंतर्गत ख़ास तौर पर ग्रामीण क्षेत्रों में मरीज़ों को उनके घरों तक ही स्वास्थ्य सेवाएंं मुहैया करवाई जाएंगी। इसी तरह 50 नयी अति आधुनिक ऐंबूलैंसें चलाईं जाएंगी, जिनमें 5 ऐसी ऐंबूलैंसें शामिल होंगी, जो जीवन बचाओ ओैर आधुनिक साजो -सामान के साथ लैस होंगी।

मंत्री ने कहा कि लम्बी बीमारियाँ से पीडित मरीज़ों को बड़ी राहत देने के लिए 22 जिला अस्पतालों, 41 सब डिवीजनल अस्पतालों और 3 मैडीकल कालेजों में दवाओं की दुकानों खोली जाएंगी, जिनमें कम कीमत पर जैनरिक दवाएँ मुहैया करवाई जाएंगी।

पिछली अकाली -भाजपा सरकार दौरान स्वास्थ्य सेवाओं के हुए मंदे हाल का जि़क्र करते श्री ब्रह्म महिन्द्रा ने कहा कि पिछले 10 सालों दौरान मूलभूत, दूसरे और तीसरे दर्र्जे के स्वास्थ्य केन्द्रों को पूरी तरह से अनदेखा किया गया जो कि शर्मनाक और दुखदायी बात थी। स्वास्थ्य सेवाओं देना प्रत्येक सरकार का प्रारंभिक फज़ऱ् होता परंतु पिछली सरकार ने इस क्षेत्र को पूरी तरह अनदेखा कर दिया था। उन्होंने कहा कि जब हमारी सरकार ने जि़म्मेदारी संभाली तो स्वास्थ्य व्यवस्था बुरी तरह से फैल हुआ पड़ा था और हमारी सरकार ने इस क्षेत्र को सब से अधिक पहल दी। दूरदर्शी पहुँच रखने वाले हमारे प्रगतिशील मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व अधीन नयी पहलकदमियों की शुरुआत हुई जिस के निष्कर्ष 10 महीनों अंदर ही मिलने लग पड़े और सरकारी अस्पतालों में बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं बहाल हुई। स्वास्थ्य मंत्री ने इस मौके पर ऐलान किया कि उनके विभाग द्वारा जनहित और अहम स्कीमों बनाईं गई हैं जिनकी शुरुआत इसी साल 2018 से हो जायेगी।

नयी स्कीमों का खुलासा करते हुये स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि सबसे बड़े पहले कदम में राज्य में 2950 हैल्थ वैलनैस सैंटर (एच.डबल्यू.सी.) खोले जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हैल्थ वैलनैस सैंटर खोलने वाला पंजाब देश का पहला राज्य होगा। उन्होने बताया कि यह सैंटर क्रमवार खोले जाएंगे और पहले पड़ाव में 240 सैंटर इसी साल फाजिल्का, पठानकोट और पटियाला जिलो ंके दो ब्लाकों में खोले जाएंगे। हर सैंटर की लागत 17 लाख रुपए आयेगी जिस में से 5 लाख रुपए बुनियादी ढांचे पर ख़र्च किया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रशिक्षित स्टाफ नर्सें को इन सेंटरों में कम्यूनटी स्वास्थ्य अधिकारी के तौर पर काम करेंगी। इस संबंधी सम्बन्धित स्टाफ को छह महीनों का विशेष प्रशिक्षण प्रोग्राम करवाया जा रहा है जो इंद्रिरा गांधी नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी (इगनूं) की तरफ से करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि के पास के सी.एच.सी. /पी.एच.सी. के स्पेशलिस्ट /मेडिकल अधिकारी इन हैल्थ वेलनैस सेंटरों में हफ्ते में दो दिन के लिए ओ.पी.डी. सेवाएं देंगे।

स्वास्थ्य मंत्री ने एक ओर जनहित शुरुआत का ऐलान करते कहा कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के निवासियों को एमरजैंसी मैडीकल सेवाए देने के लिए 50 नयी ऐबूलैंस चलाईं जाएंगी जिनमेें ं 5 एडवांस जीवन बचाओ ऐबूलैंस (ए.एल.एस.) शामिल होंगी। उन्होंने बताया कि यह ए.एल.एस. नाजुक घडिय़ाँ में अपनाई जातीं बहुत ही अहम जीवन बचाओ तकनीकों के साथ लैस होंगी। इसके साथ एमरजैंसी मामलों में मरीज़ो की संभाल और उनका इलाज ऐबूलैंस में ही शुरू हो जायेगा। उन्होंने बताया कि इस से पहले 242 ऐबूलैंस संवेदनशील स्थानों पर चल रही हैं जो कोई 108 काल सैंटर के साथ अटेच हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार का लक्ष्य है कि राज्य के हर शहरी क्षेत्र में 20 मिनटों के अंदर और ग्रामीण क्षेत्र में 30 मिनटों के एमरजैंसी ऐबूलैंस सेवाएं मुहैया करवाई जाएँ।

ब्रह्म महिंद्रा ने कहा कि हमारे राज्य के लिए गौरव वाली बात है कि पंजाब देश का पहला राज्य है जहाँ 45 सरकारी बल्ड बैंकों में ई -रक्तकोष की शुरुआत की गई है। उन्होंने कहा कि इस स्कीम के अंतर्गत किसी भी एमरजैंसी की हालत में मरीज़ को ऑनलाइन ही पता लग जायेगा कि राज्य के इन 45 सरकारी बल्ड बैंकों में कौन से ग्रुप का ख़ून मौजूद है। इसके साथ स्वै -इच्छित खूनदानी भी अपनी रजिस्ट्रेशन करवा सकता है। उन्होंने कहा कि द्ग-ह्म्ड्डद्मह्लद्मशह्यद्ध.द्बठ्ठ पर लॉग-इन कर कर कोई भी जानकारी ले सकता है। इस सम्बन्धित गुग्गल प्लेस्टोर पर जा कर ई -रक्तकोष मोबाइल एप डाउनलोड कर सकता है। उन्होंने कहा कि अगले पड़ाव में पंजाब के 59 प्राईवेट बल्ड बैंकों में ई -रक्तकोष स्थापित किया जायेगा।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि कांग्रेस पार्टी ने चुनाव मैनीफैस्टो में वायदा किया था कि राज्य में 5 नये मैडीकल कालेज और अस्पताल बनाऐ जाएंगे। राज्य में पिछले लगभग 70 सालों से कोई भी मैडीकल कालेज और अस्पताल सरकारी क्षेत्र में नहीं बना। सरकारी रजिन्दरा मैडीकल कालेज और अस्पताल की स्थापना 1951 में से गई थी। उन्होंने बताया कि कांग्रेस सरकार अपने वायदे पूरे करने के लिए हर यत्न कर रही है और वायदे अनुसार मैडीकल कालेज और अस्पताल एसएएस नगर (मोहाली) में स्थापित किया जायेगा, जिसके निर्माण का काम इस साल ही शुरू कर दिया जायेगा।

ब्रह्म महिन्द्रा ने बताया कि पंजाब में निशुल्क डायलसस की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। यह सुविधा राज्य के सभी जिला अस्पतालों, सब डिवीजनल अस्पतालों (कोटकपूरा, अबोहर, जगराओं ,बटाला, दसूहा और फगवाड़ा) और सीएचसी बंगा और तीन मैडीकल कालेजों और अस्पतालों में मुहैया करवाई गई है। इसी तरह 68 ईकाइों में 29 सेंटरों की शुरुआत की गई है। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण में निशुल्क डायलसस सुविधा भी जल्द ही उपलब्ध करवा दी जाएगी व 5 अन्य सब डिवीजनल अस्पतालों में भी शीघ्र ही शुरू की जाएगी।

स्वास्थ्य विभाग पंजाब ने टी.बी.को कम करने का निर्णय लिया है कि टी.बी. के रोगियों को निशुल्क पौष्टिक की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। यह सुविधा मार्कफैड के सहयोग से उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि टी.बी. के रोगियों के लिए एक्स-रे भी सभी सरकारी अस्पतालों में निशुल्क किया गया है और राष्ट्रीय स्तर पर टी.बी.को 2025 में समाप्त करने का लक्ष्य है।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि घायलों का समय पर ईलाज करने के लिए ट्रोमा सैंटर स्थापित किए जा रहे हैं। पंजाब में 5 ट्रोमा सैंटर बनाए जा रहे हैं। पहले चरण में यह ट्रोमा सेंटर राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय हाईवे नज़दीक स्थापित किए जाएंगे।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि मैडीकल अधिकारियों , अन्य मैडीकल व पैरा -मैडीकल स्टाफ का कार्यालय में समय पर आना -जाना यकीनी बनाने के लिए बायो मैट्रिक अटैंडैंस व्यवस्था सभी सरकारी अस्पतालों में शुरू करना सुनिश्चित किया जा रहा है।

ब्रह्म महिन्द्रा ने बताया कि जच्चा-बच्चा की मौत दर को कम करने के लिए राज्य सरकार ने 1000 दिन तक विशेष माँ और बच्चों की सेहत संभाल के लिए कार्यक्रम की शुरुआत की जा रही है। इस के लिए गर्भवती महिला और बच्चों के दूसरे जन्म दिन तक सेहत का विशेष ध्यान रखा जाएगा। इस के लिए गर्भवती महिला का गर्भ दौरान तीन बार जांच, पौष्टिक भोजन, हाई रिसक गर्भ की पहचान और स्टरोंग रैफल मैकेनिज्म तैयार किया जा रहा है।

स्वास्थ्य मंत्री ने आगे बताया कि पंजाब सरकार अपने आप में एक ओर अलग कार्यक्रम शुरू करने जा रही है जिस अधीन स्टेट आरगन टिशू ट्रांसप्लांटेशन आर्गेनाईजेशन की स्थापना करने जा रही है जिस द्वारा शीघ्रता की श्रेणी अधीन अंग और टिशू दान करने की व्यवस्था की जाएगी। इस संस्था की शुरुआत मैडीकल शिक्षा भवन मोहाली से की जा रही है। उन्होंने कहा कि दिल, फेफडे, जिगर और आंत आदि रोगों से पीडित रोगियों के लिए जब यह केंद्र शुरू हो जाएगा तो पीढि़त रोगियों के अंग बदलने का कार्य यहीं पर शुरू किया जाएगा।

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Presenting Vision Document of punjab Health Department 240 Valenas center soon
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: presenting vision document of punjab, punjab health department, valenas center soon in punjab, 10 months of punjab goverment, पंजाब सरकार, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, punjab-chandigarh news, punjab-chandigarh news in hindi, real time punjab-chandigarh city news, real time news, punjab-chandigarh news khas khabar, punjab-chandigarh news in hindi
Khaskhabar Punjab Facebook Page:
स्थानीय ख़बरें

पंजाब से

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2018 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved