• Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia
1 of 2

तीन तलाक की लडाई में इन तीन महिलाओं ने निभाई महत्तवपूर्ण भूमिका

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने लंबी सुनवाई के बाद आज ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक से आजादी दे दी है। सुप्रीम कोर्ट की पांच जजों की बेंच में से तीन जजों ने तीन तलाक को असंवैधानिक करार दिया है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को संसद में तीन तलाक पर कानून बनाने के लिए कहा है। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से तीन तलाक पीडित महिलाओं को राहत मिली है। तीन तलाक पीडित कई महिलाओं ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। लेकिन इनमें से तीन महिलाएं ऐसी हैं, जिन्होंने इस मामले में अहम भूमिका निभाई और सुप्रीम कोर्ट में हुई तीन तलाक की बहस को नया रूप दिया। आइए जानते हैं इन तीन महिलाओं के बारे में।
सायरा बानो:
उत्तराखंड के काशीपुर की रहने वाली तीन तलाक पीडिता सायरा बानो ने 2016 में सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। 15 वर्ष तक शादी के बंधन में बंधे रहने के बाद सायरा के पति ने उसे वर्ष 2015 में तीन तलाक बोलकर रिश्ता खत्म कर लिया था। इस पर सायरा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई। सायरा बानो ने सुप्रीम कोर्ट में लगाई याचिका में कहा कि तीन तलाक, बहुविवाह और निकाह हलाला को संविधान के मौलिक अधिकारों के आधार पर गैरकानूनी घोषित कर देना चाहिए। सायरा के शौहर ने मुस्लिम पर्सनल लॉ का हवाला देते हुए इन तीनों बिंदुओं का विरोध किया. सायरा उत्तराखंड के काशीपुर की रहने वाली हैं.

इशरत जहां:
पश्चिम बंगाल के हावडा निवासी इशरत जहां को उसके पति ने दुबई से फोन पर ही तीन तलाक बोल दिया था। इसके बाद इशरत जहां ने भी अगस्त 2016 में सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। इशरत जहां ने अपनी याचिका में कहा कि उसका निकाह वर्ष 2001 में हुआ था। इशरत के 4 बच्चे भी हैं। तीन तलाक के बाद उसके पति ने बच्चों को जबरन अपने पास रख लिया। इशरत जहां ने कोर्ट से गुहार लगाई कि उसे उसके वापस दिलाए जाएं और साथ में पुलिस सुरक्षा दिलाने की भी मांग की। याचिका में इशरत जहां ने कहा कि ट्रिपल तलाक गैरकानूनी है और मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों का हनन है।

जाकिया सोमन:

ये भी पढ़ें - अपने राज्य - शहर की खबर अख़बार से पहले पढ़ने के लिए क्लिक करे

यह भी पढ़े

Web Title-Triple talaq verdict: These are the 3 women who fought against triple talaq
खास खबर Hindi News के अपडेट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करे!
(News in Hindi खास खबर पर)
Tags: triple talaq, triple talaq verdict, 3 women who fought against triple talaq, hindi news, news in hindi, breaking news in hindi, real time news, delhi news, delhi news in hindi, real time delhi city news, real time news, delhi news khas khabar, delhi news in hindi
Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2017 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved