CP1 फलक का असली गुनहगार राजकुमार गिरफ्तार - www.khaskhabar.com
  • Aapki Saheli
  • Astro Sathi
  • Business Khaskhabar
  • ifairer
  • iautoindia

फलक का असली गुनहगार राजकुमार गिरफ्तार

published: 11-02-2012

नई दिल्ली। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही दो साल की फलक की दुर्दशा के लिए जिम्मेदार राजकुमार को आखिर दिल्ली पुलिस ने नई दिल्ली स्टेशन से दबोच लिया है। इसके अलावा इस मामले में पटना से एक और महिला को गिरफ्तार किया गया है। दक्षिण दिल्ली पुलिस को राजकुमार की भनक उस समय लगी जब वह पैसे निकालने के लिए बैंक पहुंचा। पुलिस के मुताबिक राजकुमार अपने खातों से पैसे निकालने के बाद नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से ट्रेन पक़ड कर यहां से फरार होने वाला था, मगर उससे पहले ही उसे दबोच लिया गया। राजकुमार दो साल की फलक को 14 साल की किशोरी के पास छोडकर मुंबई चला गया था। 14 साल की किशोरी दो साल की फलक को संभाल नहीं पाई और उसकी ऎसी हालत हो गई कि 18 जनवरी से वह एम्स के ट्रॉमा सेंटर में मौत से जंग लड रही है। दूसरी ओर, इस मामले में बिहार की राजधानी पटना से एक और महिला को गिरफ्तार किया गया है। यह महिला, पहले गिरफ्तार हो चुकी लक्ष्मी की पडोसी बताई जा रही है। महिला सेक्स रैकेट से जु़डी हुई बताई जा रही है। अब तक इस मामले में 9 गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। गौरतलब है कि फलक को 18 जनवरी को एम्स में जब भर्ती कराया गया था, तो उस वक्त उसके सिर पर कई घाव थे। दोनों बाहें टूटी हुईं थीं। उसके पूरे शरीर पर दांत से काटने के निशान थे। गालों को भी गर्म छडों से दागा गया था। इस बीच, एम्स में भर्ती फलक के मस्तिष्क को छो़डकर अन्य सभी हिस्सों में संRमण स्तर कम होने के बाद डॉक्टर उसकी एक और सर्जरी करने की तैयारी में जुट गए हैं। डॉक्टरों की चिंता इस बात को लेकर बनी हुई है कि फलक बेहोशी से बाहर नहीं निकल पा रही है। डॉक्टरों का कहना है कि तीन सप्ताह से अधिक समय दिए जा रहे इलाज के बावजूद उसे बेहोशी से बाहर निकाला जा सका है। यह अच्छा संकेत नहीं है।

Khaskhabar.com Facebook Page:

प्रमुख खबरे

आपका राज्य

Traffic

जीवन मंत्र

Daily Horoscope

Copyright © 2022 Khaskhabar.com Group, All Rights Reserved