सर्राफा व्यापारियों ने सोनिया,मुखर्जी से आश्वासन ले खत्म की हडताल

published: 06-04-2012

नई दिल्ली। गैर ब्रांडेड आभूषणों पर उत्पाद शुल्क लगाने तथा सोने के आयात पर सीमा शुल्क बढाने के बजट प्रस्ताव से नाराज सर्राफा व्यापारियों की तीन सप्ताह से चल रही हडताल शुक्रवार को सोनिया गांधी और प्रणब मुखर्जी से मुलाकातों में मिले आश्वासनों के बाद खत्म हो गई।

व्यापारियों ने शुक्रवार को यहां कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की और उसने आभूषण व्यवसाय पर बजट में लगाए नए करों को हटवाने की अपील की। अखिल भारतीय स्वर्णकार संघ के अध्यक्ष मधुकर चाचड ने कांग्रेस अध्यक्ष के साथ मुलाकात के बाद यहां संवाददाताओं से कहा कि हमने सोनिया गांधी से बिना ब्रांड वाले आभूषणों पर उत्पाद शुल्क लगाने तथा सोने के आयात पर सीमा शुल्क बढाने के प्रस्ताव को वापस कराने तथा आभूषणों की बिक्री पर टीडीएस कम करने के लिए सरकार से कहने का आग्रह किया।

उन्होंने कहा कि श्रीमती गांधी ने उन्हें भरोसा दिलाया है कि वह उनके मांगों पर कार्रवाई के लिए वित्तमंत्री प्रणव मुखर्जी से कहेंगी। इससे पहले कांग्रेस पार्टी ने सरकार से सर्राफा कारोबारियों की मांगों पर विचार करने का आग्रह किया। कांग्रेस के महासचिव और मीडिया प्रभारी जनार्दन द्विवेदी ने कहा कि कांग्रेस ने सरकार से सर्राफा कारोबारियों की मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने का आग्रह किया है। सर्राफा कारोबारी बजट प्रस्तावों के विरोध में 17 मार्च से हडताल पर है। ज्ञात रहे, मुखर्जी ने 2012-13 के बजट में सभी गैर ब्रांडेड आभूषणों पर एक प्रतिशत का उत्पाद शुल्क लगाने के साथ साथ सोने पर पर आयात शुल्क 2 प्रतिशत से बढा कर 4 प्रतिशत कर दिया है।

Advertisement

Traffic

Advertisement

सर्वाधिक पढ़ी गई

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope