ग्राहकों को आकर्षित करता था सेक्स टॉय

published: 27-11-2013

नई दिल्ली | आम लोगों के लिए 'चौकस', 'पाउ', 'पोनी', 'गलोरी' का मतलब भले ही कुछ न निकलता हो, लेकिन ये वे कूट शब्द हैं जिसका इस्तेमाल दिल्ली के एक बाजार का एक दुकानदार सेक्स ट्वाय बेचने के लिए किया करता था। नई दिल्ली के पालिका बाजार से आशीष गुप्ता (26) को 21 इलेक्ट्रॉनिक सेक्स ट्वाय, दवाएं, अश्लील फिल्मों और अन्य अश्लील सामग्री के साथ गिरफ्तार किया गया।

ग्राहकों को आकर्षित करने और पुलिस से अपनी गतिविधि छिपाने के लिए वह कूटभाषा का इस्तेमाल किया करता था।

पुलिस ने कहा, "गुप्ता अपने ग्राहकों से बातचीत में 'चौकस' शब्द का इस्तेमाल करता था। इसका मतलब होता है अच्छा। वह पुरुष ग्राहकों को 'पाउ' और महिला ग्राहकों को 'पोनी' कहता था।"

किसी प्रकार का संकट होने पर वह 'गलोरी' शब्द का इस्तेमाल करता था।

पुलिस ने कहा, "पुरुष अंग के लिए वह 'अकेले राम' जबकि महिला अंग के लिए 'लेवेडी' का इस्तेमाल किया करता था। अश्लील फिल्म के लिए वह 'टीआर' और बड़ी वस्तु को 'लांगतार' कहता था।"

Advertisement

Traffic

Advertisement

सर्वाधिक पढ़ी गई

Advertisement

जीवन मंत्र

Daily Horoscope